Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंज्यूमर अड्डा: उम्र 4 से ज्यादा, नर्सरी का बंद दरवाजा

प्रकाशित Thu, 29, 2018 पर 07:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

हर साल, साल खत्म होते-होते शुरु हो जाती है एडमिशन की टेंशन और इस बार तो टेंशन 2 गुनी हो गई है, क्योंकि इस सेशन से दिल्ली के स्कूलों में नर्सरी से लेकर क्लास 1 वन तक एडमिशन के लिए बच्चों की उम्र सीमा तय कर दी गई है। बच्चे की उम्र 31 मार्च 2019 को 4 साल से ज्यादा हुई तो नर्सरी में एडमिशन नहीं मिलेगा। लेकिन सवाल है कि ये नियम कितना जायज है और क्या इस नियम से बच्चों के साथ न्याय हो पाएगा? जो बच्चा एक बार एडमिशन से छूट गया तो मां-बाप के पास फिर क्या विकल्प होंगे।


दिल्ली में 15 दिसंबर से नर्सरी एडमिशन की दौड़ फिर शुरू होने जा रही हैI और अगर आपका बच्चा भी इस रेस में शामिल होने जा रहा है, तो जरा ध्यान दीजिएI दरअसल इस साल से दिल्ली के स्कूलों में एडमिशन के लिए उम्र की सीमा तय कर दी गई है। शिक्षा निदेशालय के सर्कुलर के मुताबिक नर्सरी में एडमिशन के लिए बच्चे की अधिकतम उम्र तय कर दी गई है। नर्सरी के लिए 31 मार्च 2019 तक बच्चे की उम्र 3 से 4 साल के बीच, केजी के लिए 4 से 5 और क्लास 1 के लिए 5 से 6 साल के बीच होनी चाहिए वरना एडमिशन नहीं मिलेगा।


दिल्ली सरकार ने निजी स्कूलों में एडमिशन की अधिकतम उम्र सीमा दिसंबर 2015 में लागू की थी, लेकिन इस फैसले के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर हो गई। पिछले साल कोर्ट ने दिल्ली सरकार के हक में फैसला सुनाया और अब इस साल से ये फैसला लागू कर दिया गया हैI


इस बार भी उम्र सीमा को लेकर कुछ पेरेंट्स आपत्ति जता रहे हैंI उनके मुताबिक पिछले साल अच्छा स्कूल ना मिलने पर उन्होंने बच्चे को प्ले स्कूल में डाल दियाI लेकिन इस बार उनका बच्चा अधिकतम उम्र सीमा पार कर जाएगा, तो नर्सरी में एडमिशन कैसे मिलेगा? इस बार एड्रेस प्रूफ के तौर पर रेंट एग्रीमेंट मान्य नहीं होगाI और एमटीएलएन का लैंडलाइन बिल, वोटर आईडी कार्ड या आधार जैसा कोई दूसरा एड्रेस प्रूफ देना होगा। वहीं जेंडर, गोद लिए बच्चे, जुड़वा बच्चे, पैरेंट्स की योग्यता या अचीवमेंट, स्कूल का ट्रांसपोर्ट और बच्चे का स्टेटस जैसी चीजें एडमिशन क्राइटेरिया से हटा दी गई हैंI जिससे पेरेंट्स को राहत मिल सकती है।


आंकड़ों के मुताबिक दिल्ली में 1700 निजी स्कूल हैं, जिनमें करीब 1.25 लाख (सवा लाख) नर्सरी की सीटें हैंI जबकि हर साल नर्सरी में एडमिशन के लिए 4 गुना एप्लीकेशन आती हैंI ऐसे में उम्र की ये सीमा पहले से ही एडमिशन की टेंशन झेल रहे मां-बाप की दिक्कत बढ़ा सकती है।