Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंज्यूमर अड्डा: नौकरी के नाम पर ठगी से कैसे बचें

प्रकाशित Wed, 12, 2018 पर 07:52  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

जिसके पास रोजगार नहीं है उसे जहां उम्मीद दिखाई देती है वहीं दौड़ पड़ता है। हालत ये है कि एमए और पीएचडी की डिग्री वाले फोर्थ ग्रेड की नौकरी के लिए लाइन लगा देते हैं और युवाओं की इसी कमजोरी का फायदा उठाते हैं कुछ शातिर दिमाग लोग। इंटरनेट और फोन के जमाने में अगर आप सावधानी नहीं बरतेंगे तो इनके मायाजाल में फंस जाएंगे। लेकिन ये इतने भी शातिर नहीं कि इन्हें पकड़ा नहीं जा सकता। आखिरकार ये सिर्फ युवाओं को नहीं बरगला रहे हैं बल्कि नामी गिरामी जॉब पोर्टल से लेकर सरकारी एजेंसियों तक के नाम खराब कर रहे हैं।


नौकरी के लिए परेशान दिल्ली के अक्षय को एक दोस्त ने बताया कि सेंट्रल स्कूल डेवलपमेंट बोर्ड में 13 हजार नौकरियां निकली है। अक्षय वेबसाइट पर गए और 250 रुपये देकर रजिस्ट्रेशन करा लिया। कुछ दिन के बाद फाइनल रजिस्ट्रेशन के नाम पर 175 रुपये और दे दिए। काफी दिनों तक परीक्षा की तारीख नहीं आयी तो अक्षय फिर वेबसाइट पर गए तो पता चला कि सबकुछ फर्जी था। असल में सेंट्रल स्कूल डेवलपमेंट बोर्ड नाम की तो कोई संस्था है ही नहीं। अक्षय ने पुलिस में शिकायत भी की मगर कोई फायदा नहीं। अक्षय तो सस्ते में छूट गए लेकिन ऐसे हजारों लोग हैं जिन्होनें अपने खून-पसीने की कमाई इस तरह के फर्ज़ीवाड़े में गवां दिए हैं। हाल ही में भारत सरकार के सागरमाला परियोजना के लिए भर्ती करने का दावा करने वाली एक वेबसाइट ने हजारों युवाओं को ऐसे ही चूना लगाया। इसके अलावा भारतीय रेल और एनएचएआई जैसे सरकारी विभागों के नाम से मिले जुले नाम वाली वेबसाइट बनाकर झूठी नौकरी देने के नाम पर लाखों लूटने के मामले अक्सर सामने आते रहते हैं। बड़ी रिक्रूटमेंट  फर्म्स का कहना है उनके पास ऐसी शिकायतों में करीब 25 फीसदी बढ़ोतरी हुई है। तो सतर्क रहिए नौकरी के ऑफर की जांच अच्छे से करिए ताकि आप ऐसे किसी फर्जीवाड़े मे न फंस जाए।