Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंज्यूमर अड्डा: वॉट्सऐप पर गंदी बात, एडमिन को हवालात

प्रकाशित Wed, 28, 2018 पर 08:01  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

वॉट्सऐप जरूरत से ज्यादा लत बनती जा रही है और हर लत के साइड इफेक्ट्स होते हैं इससे वॉट्सऐप भी अछूता नहीं है। सुबह से लेकर रात तक वॉट्सऐप के नोटिफिकेशन का बजते रहना आम बात हैं। दोस्तों रिश्तेदारों  से नॉन स्टॉप बातचीत नॉन स्टॉप फोटो एक्सचेंज नॉन स्टॉप फारवर्ड्स लेकिन इन सब के बीच एक स्टॉप जो लगाना जरूरी है वो है कि आप इस प्लैटफॉर्म पर किस तरह की बतचीत कर रहें है किस तरह का कॉन्टेनट एक्सचेंज कर रहें हैं। वरना वॉट्सऐप की मौज मस्ती आपको भारी पड़ सकती है।


वॉट्सऐप ग्रुप पर रिश्तेदारों से बातें, दोस्तों से चैटिंग यहां तक तो ठीक है, लेकिन अगर आप किसी ग्रुप के एडमिन हैं तो नियम-कायदों का ख्याल रखिए। जरा सी लापरवाही या चूक आपको भारी पड़ सकती है। मुंबई पुलिस ने मुश्ताक अली शेख नाम के वॉट्सऐप एक ग्रुप एडमिन को गिरफ्तार किया है। मुश्ताक ने बिना इजाजत के महिला का मोबाइल नंबर ऐसे ग्रुप में जोड़ लिया जिसमें पॉर्नोग्राफिक कॉन्टेंट शेयर किया जाता था। महिला को ग्रुप में पॉर्नोग्राफिक फोटोज और वीडियो दिखने पर उसने शिकायत दर्ज कराई। मुश्ताक को आईटी ऐक्ट की धारा 67 और 67-ए के तहत गिरफ्तार किया गया है। इन धाराओं में पहली बात 5 साल तक की जेल और गलती दोहराने पर 7 साल तक की जेल और 10 लाख रुपए तक का जुर्माना हो सकता है।


भारत में व्हाट्सएप के 20 करोड़ से ज्यादा सक्रिय यूजर्स हैं और आपत्तिजनक सामग्री पर कार्रवाई भी होती रही है। इसी साल जुलाई में मध्य प्रदेश में एक एडमिन को एंटी नेशनल मैसेज पोस्ट करने के लिए जेल की हवा खानी पड़ी थीI अगस्त 2018 में बंगलुरू के एक वॉट्सऐप ग्रुप एडमिन को भड़काऊ सांप्रदायिक मैसेज भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। जानकारों के मुताबिक इस तरह की कार्रवाई से बचने के लिए एडमिन को ख्याल रखना चाहिए कि ग्रुप से किसी भी तरह का आपत्तिजनक वीडियो, फोटो, मैसेज शेयर नहीं हो। कुल मिलाकर वॉट्सऐप ग्रुप में चाहे जितनी मौज मस्ती कीजिए लेकिन एडमिन अपनी जिम्मेदारियों का ख्याल भी जरूर रखेंI वरना मजा को सजा में बदलने में देर नहीं लगेगी।