Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंज्यूमर अड्डा: टायर फटने से बचाना, रॉन्ग साइड मत जाना

प्रकाशित Wed, 09, 2019 पर 07:51  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ये ड्राईविंग नहीं आसान, बस इतना समझ लीजिए, रॉन्ग साइड कांटो का ब्रेकर है, इसलिए सीधे ही जाना है। जी हां अगर आप भी रॉन्ग साइड पर ड्राइव करते हैं तो संभल जाईए क्योंकि आपकी इस आदत को सुधारने के लिए दिल्ली के सैटेलाईट शहर नोएडा में टायर किलर आपका इंतजार कर रहें हैं। ये किसी सामान्य स्पीड ब्रेकर्स जैसे दिखते हैं लेकिन उल्टी दिशा में अगर इसके उपर कार चढ़ेगी तो इसके नुकीले स्पाइक आपके कार, स्कूटर या बाईक के टायर को पंचर कर देंगे। हो सकता है उससे भी बुरा हाल कर दें नौएडा अथोरिटी नें अभी इन टायर किलर को सेक्टर 74 मे लगाया गया है और इस टायर किलर को लगाने की पीछे सबसे बड़ी दलील ये है कि पिछले साल रॉन्ग साइड ड्राइविंग के लिए 74,000 चालान काटे गए और तब भी गाड़ी चालक सुधरने का नाम नहीं ले रहे और ये टायर किलर रॉन्ग साईड में गाड़ी चलाने वालों के लिए चेतावनी है। तो पुणे के बाद दिल्ली से सटे नोएडा में रॉन्ग साइड गाड़ी चलाने वालों को सबक सिखाने के लिए प्रशासन ने एक अनोखा इंतजाम किया हैI


नोएडा अथॉरिटी ने शहर की सड़कों पर टायर किलर्स ब्रेकर लगाने का काम शुरु कर दिया हैI कुछ जगहों पर ये लगा भी दिये गए हैंI इन टायर किलर्स में खास तरह के कांटे लगे हैं जिनसे सही दिशा में गाड़ी चलाने पर तो कुछ नहीं होगा लेकिन अगर आपने रॉन्ग साइड से उनके ऊपर से गाड़ी निकाली तो वो आपके टायर पंचर कर देंगेI या उससे भी ज्यादा नुकसान हो सकता हैI सरकारी आंकड़ों की माने तो 2017 में सड़क हादसों में सबसे ज्यादा मौतें रॉन्ग साइड ड्राइविंग और ओवर स्पीडिंग की वजह से हुईंI वहीं 2016 में गलत दिशा में ड्राइविंग करने की वजह से 17 हज़ार से ज़्यादा सड़क दुर्घटनाएं हुईं, जिनमें 7 हज़ार 705 लोग मारे गये और करीब 17 हज़ार लोग घायल हुए। यानी कुछ लोगों की लापरवाही से हज़ारों लोग बेमौत मारे गये। तो कुल मिलाकर गलत दिशा में गाड़ी चलाना मौत को दावत देने के बराबर है और इससे बचना खुद आपकी जिम्मेदारी हैI अब देखना होगा कि ये टायर किलर्स लोगों को ये बात समझा पाएंगे या नहींI