Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कंज्यूमर अड्डा: Sunscreen क्रीम बचाएगी नहीं, करेगी बिमार!

प्रकाशित Wed, 15, 2019 पर 07:49  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

धूप में बाहर निकलने से पहले स्किन पर sunscreen लगाएं वर्ना स्किन टैन हो सकती है और इसपर रिंकल जल्दी आ सकते हैं। गर्मी में त्वचा की प्रेटेक्शन के लिए sunscreen जरूरी है इस बात को हमने गांठ बांध ली है। हम sunscreen को अपने स्किन पर एक सुरक्षा कवच की तरह इस्तेमाल करते आएं हैं। सूरज की अलट्रा वायलेट किरणों से बचने का ये तरीका हम सब जानते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि ये सुरक्षा कवच आपको नुकसान भी पहुंचा सकता है। sunscreen में मौजूद केमिकल्स की एक जांच हुई। जर्नल ऑफ अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन की रिपोर्ट में बताया गया है कि 24 लोगों को लगातार चार दिन तक sunscreen इस्तेमाल करवाया गया और फिर इनका बल्ड टेस्ट किया गया जिसमें ये बात सामने आई कि sunscreen में मौजूद केमिकल उनके ब्लडस्ट्रीम तक पहुंच गए था। इन क्रीम्स की absorption पॉवर और इनमें मौजूद केमिकल्स हमें कितना नुकसान पहुंचा सकते हैं और इनके क्या विकल्प हो सकते हैं, आइए जानते हैं।


Sunscreen की सुरक्षा का सच ये है कि इनमें से ज्यादातर में भारी मात्रा में केमिकल्स का इस्तेमाल होता है। 1 दिन के इस्तेमाल से भी ये केमिकल खून में समा जाते हैं, 24 लोगों पर 4 दिन तक इस्तेमाल के बाद ये सच सामने आया है। हालांकि रिपोर्ट में सेहत पर पड़ने वाले प्रभाव का जिक्र नहीं है।


बाजार में दो तरह के Sunscreen मिलते हैं। पहला है केमिकल Sunscreen जिनमें ऑक्सिबेंजोन, एवोबेंजोन, ऑक्टिस्लेट जैसे केमिकल का इस्तेमाल होता है। ये केमिकल बिना सफेद दाग छोड़े क्रीम को हमारे स्किन के साथ मिला देते हैं। लोग इन क्रीम्स को ज्यादा पसंद करते हैं। दूसरा है फीजिकल Sunscreen। इनमें टाइटेनियम डाय-ऑक्साइड, जिंक-ऑक्साइड जैसे मिनरल का इस्तेमाल होता है। मिनरल्स के इस्तेमाल से सूरज की किरणों स्किन से टकराकर बिखर जाती हैं और इससे त्वचा सनबर्न से बच जाती है।


अमेरिकी जनरल में छपी रिपोर्ट में भले की इससे होने वाली बिमारियों का जिक्र नहीं है। मगर एक्सपर्ट मानते हैं कि Sunscreen में शामिल केमिकल हार्मोन सिस्टम को बिगाड़ सकते हैं। यही नहीं इनके लगातार इस्तेमाल से कैंसर जैसी बिमारी का भी खतरा है। हैरानी की बात ये है कि हमारे देश में सिर्फ ज्यादातर लोगों को Sunscreen की जरूरत नहीं है। मगर गोरा दिखने के लिए Sunscreen का चलन तेजी से बढ़ रहा है।