Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

corona effect:ऑफिस में कामकाज का तरीका बदला, सोशल डिस्टेंसिंग वाले ऑफिस की डिमांड !

लॉकडाउन के बाद जब आप वापस दफ्तर लौटेंगे तो सोशल डिस्टेंसिंग से लेकर कई जरूरी बदलाव आपको फॉलो करने होंगे
अपडेटेड May 22, 2020 पर 08:42  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लॉकडाउन के बीच अब दफ्तरों में कामकाज पहले जैसा नहीं रहेगा। लॉकडाउन के बाद जब आप वापस दफ्तर लौटेंगे तो सोशल डिस्टेंसिंग से लेकर कई जरूरी बदलाव आपको फॉलो करने होंगे। इसको लेकर कंपनियों ने भी तैयारियां शुरु कर दी है।


कोरोना काल में हो रहे बदलावों के मद्देनजर अब आप अपने ऑफिस में ना कुर्सी सटाकर बैठ पाएंगे और ना ही अपनी मर्जी  से पैंट्री में खा-पी पाएंगे। सोशल डिस्टेंसिंग और हाइजिन ऑफिस में काम करने का मूल मंत्र बन गया है।  ऐसी कई कंपनियां हैं जो अपने पुराने सेटअप में काम शुरू करने के बजाए को-वर्किंग स्पेस में काम करने का ऑप्शन अपना रही हैं। बड़ी वजह ये है कि को-वर्किंग स्पेस में ये सभी बदलाव आसानी और तेजी के साथ किए जा सकते हैं वो भी कम लागत में।
 
Smartworks के Co-Founder हर्ष बिनानी का कहना है कि लॉकडाउन के बीच जो बदलाव हुए हैं उसमें को-वर्किंग स्पेस कंपनियों के लिए ऑपर्च्यूनिटी है। कोरोना की वजह से को-वर्किंग स्पेस की डिमांड ज्यादा आ रही है। सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा हाइजीन का भी इन दफ्तरों में खास ध्यान रखा जा रहा है।  जानकारों के मुताबिक पिछले एक महीने में  को-वर्किंग स्पेस से जुड़ी इनक्वायरी 60 फीसदी तक बढ़ी हैं। वहीं बुकिंग डिमांड की बात करें तो आने-वाले 6 महीनों तक इसमें 40 से 45 फीसदी तक बढ़ोतरी की उम्मीद है।


को-वर्किंग कंपनियों ने अपने ऑफिसेस में थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी कर दी है। सोशल डिस्टेंसिंग के लिए ऑफिस में मार्किंग को भी अपनाया जा रहा है। पैंट्री, कैंटीन और वॉशरुम में साफ-सफाई पर भी खास फोकस है।



सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।