Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

covid-19 lockdown: अंतिम संस्कार की सुविधाएं भी मिलेंगी ऑनलाइन,जानिए कैसे मोक्ष दिलाएगी ये स्टार्टअप

देश भर मे लागू लॉकडाउन को देखते हुए पुणे स्थित एक स्टार्टअप जो अभी तक अंतिम संस्कार के लिए सिर्फ पुरोहित और साम्रगी उपलब्ध कराती थी।
अपडेटेड Jun 02, 2020 पर 16:08  |  स्रोत : Moneycontrol.com

देश भर मे  लागू लॉकडाउन को देखते हुए पुणे स्थित एक स्टार्टअप जो अभी तक अंतिम संस्कार के लिए सिर्फ पुरोहित और साम्रगी उपलब्ध कराती थी। अब अपने ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के जरिए अंतिम संस्कार से संबंधित सभी सेवाएं एक प्लेटफॉर्म पर उपलब्ध कराने की तैयारी पर है।


पुणे स्थित एक स्टार्टअप अपनी मोक्ष सेवा के तहत किसी परिवार के मृतक का मृत्यु प्रमाणपत्र हासिल करने, उसके लिए अर्थी या जनाजा बनाने, अंतिम संस्कार स्थल तक बॉडी को ले जाने, अंतिम संस्कार स्थल में पास हासिल करने और अंतिम संस्कार संपन्न कराने के लिए पुरोहित और जरुरी साम्रगी उपलब्ध कराने की सेवा देता है।


गुरुजी ऑन डिमांड (Guruji on Demand) नाम की ये पुणे स्थित कंपनी अंतिम संस्कार के बाद होने वाले अन्य कर्मकांडों की सुविधा देने की भी तैयारी में है। कंपनी के एक पार्टनर प्रणव छवारे (Pranav Chaware) ने पीटीआई को बताया कि इस महीने के अंत तक कंपनी की ये सेवाएं शुरु हो जायेंगी।


उन्होंने आगे कहा कि कोरोना वायरस महामारी के चलते नॉन कोविड मृतकों के अंतिम संस्कार में भी रिश्तेदारों और पड़ोसियों के एकत्र होने पर मनाही है। ऐसे में कंपनी की यह सेवा महत्तवपूर्ण हो जाती है। 


कोरोना वायरस संकट काल में पहले से ही दर्द से गुजर रहे छोटे परिवारों को अंतिम संस्कार के लिए जरुरी चीजों को जुटाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गुरुजी ऑन डिमांड (Guruji on Demand) की इस सेवा का लक्ष्य मृतक के परिवार को इस दुखद स्थिति के दौरान अंतिम संस्कार संपन्न करने के लिए एक परेशानी मुक्त वन स्टॉप सल्युएशंस प्रदान करना है।


वर्तमान में कंपनी में महाराष्ट्र के पुणे और पिंपरी-चिंचवाड़ एरिया के 650 पुरोहित रजिस्टर्ड हैं। जरुरत मंद लोग कंपनी के मोबाइल ऐप या उसकी वेबसाइट के जरिए ये सेवाएं ले सकते हैं। आज की सोशल डिस्टेसिंग की जरुरत को ध्यान में रखते  हुए कंपनी से संबंधित पुरोहित वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए भी पूजा करवाते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।