Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Coronavirus pandemic: WHO ने भी माना, हवा से फैल सकता है कोरोना वायरस

200 से ज्यादा वैज्ञानिकों के अपील के बाद अंतत: डब्ल्यूएचओ (WHO) यह मान लिया है कि कोरोना वायरस कुछ खास परिस्थितियों में हवा के जरिए भी संक्रमित हो सकता है
अपडेटेड Jul 10, 2020 पर 17:11  |  स्रोत : Moneycontrol.com

200 से ज्यादा वैज्ञानिकों के अपील के बाद अंतत: डब्ल्यूएचओ (WHO) ने यह मान लिया है कि कोरोना वायरस कुछ खास परिस्थितियों में हवा के जरिए भी संक्रमित हो सकता है। बता दें कि इस हफ्ते 1 मेडिकल जनरल में 2 ऑस्ट्रेलियन और अमेरिकन वैज्ञानिकों ने एक खुला पत्र लिखा था जिसमें कहा गया था कि शोधों से यह पता चलता है कि खांसते और बोलते समय मुंह और नाक से निकले सुक्ष्मकण हवा मे काफी देर तक तैरते रहते हैं और इसमें चिपके कोरोना के वायरस दूसरे लोगों में कोरोना का संक्रमण फैला सकते है।


इन वैज्ञानिकों के साथ ही चिकित्सा क्षेत्र से जुडे और 200 लोगों ने तमाम नेशनल और इंटरनेशनल संस्थाओं और डब्ल्यूएचओ से इस तथ्य को ध्यान में रखते हुए कोरोना से निपटने के लिए और कठोर उपाय अपनाने की अपील की थी।


बता दें कि डब्ल्यूएचओं लंबे समय से इस बात से इनकार कर रहा था कि कोरोना वायरस हवा के जरिए फैल सकता है। अपने पुराने रुख में बदलाव करते हुए डब्ल्यूएचओं ने 9 जुलाई को यह मान लिया कि यह वारस हवा के जरिए भी फैल सकता है।


डब्ल्यूएचओं ने अपने बयान में कहा है कि अध्ययन से यह पता चला है कि भीड़-भाड़ वाले और ताजी हवा के कमी वाले इंडोर लोकेशन जैसे रेस्ट्रॉरेंट, जिम, फिटनेस सेंटर जैसी जगहों में किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के साथ लंबे समय तक रहने पर संक्रमण की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है।


इसके साथ ही डब्ल्यूएचओं ने इस तथ्य को भी संज्ञान में लिया है कि बिना लक्षण वाले मरीज कोविड- 19 के संक्रमण में बड़ी भूमिका निभा सकते है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।