Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Coronavirus pandemic: जानिए लॉकडाउन 3.0 के बाद कैसी होगी आपकी जिंदगी

लॉकडाउन 3.0 के बाद जिन्दगी कैसी होगी। अगर आपके मन में ये सवाल है तो इसका एक खाका हम आपके सामने रखने वाले हैं।
अपडेटेड May 11, 2020 पर 08:35  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लॉकडाउन 3.0 के बाद जिन्दगी कैसी होगी। अगर आपके मन में ये सवाल है तो इसका एक खाका हम आपके सामने रखने वाले हैं।  वैसे रेल, हवाई यातायात ,मेट्रो या फिर सड़क यातायात क्या चलेगा, कैसे चलेगा इसपर फैसला सरकार लेगी लेकिन हम आपको बताएंगे कि लॉक डाउन के बाद पब्लिक ट्रांसपोर्ट में आपका सफर कैसे बदलने वाला है। सरकार का रेल, हवाई ,बस और मेट्रो को लेकर क्या एक्शन प्लान है आइए जानते हैं।


ऐसा होगा रेल का सफर


लॉकडाउन खत्म होने के बाद भी सोशल डिस्टेंस का पालन किया जाएगा। रेल सेवाएं सभी रुट्स पर ना शुरु होकर केवल  ग्रीन जोन में शुरु की जायेंगी। स्टेशनों पर थर्मल स्क्रीनिंग जरूरी होगी। यात्रियों के लिए मास्क, आरोग्य ऐप अनिवार्य होगा।  फिलहाल लोकल ट्रेनों का संचालन बंद रहेगा। अनिवार्य काम से ही सफर करने की इजाजत होगी। सीनियर सिटीजन के सफर की मनाही होगी। लॉकडाउन के बाद ट्रेन संचालन का SOP बन रहा है। हालांकि  ट्रेनें कब से चलेंगी इसपर अभी फैसला नहीं हुआ है।


एयर ट्रैवल का रोडमैप


एयर ट्रैवल पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री लेंगे। शुरुआत में सिर्फ ग्रीन जोन के बीच की यात्रा होगी। शुरुआत में  सिर्फ 25 फीसदी क्षमता पर प्लेन चलेंगे । दस्ताने, फेस मास्क, कैप्स भी अनिवार्य हो सकते हैं।  मेडिकल सर्टिफिकेट दिखाना पड़ सकता है। बोर्डिंग पास के लिए कियोस्क, लगेज टैग खुद लगाना होगा। सीटों के बीच करीब डेढ़ मीटर की दूरी होगी। एयरपोर्ट पर खाने-पीने जैसी सुविधा सीमित रहेंगी। बड़े एयरपोर्ट्स पर शुरुआत में सिर्फ एक टर्मिनल खुलेगा।


क्या मेट्रो भरेगी रफ्तार


DMRC ने मेट्रो का सोशल डिस्टनसिंग प्लान बनाया है।  एक कोच में 40 से यात्री, मास्क, आरोग्य सेतु जरूरी होगा। हर स्टेशन पर एक से दो गेट्स ही खोले जाएंगे। PPEs किट के साथ  CISF के जवान ड्यूटी करेंगे । यात्रियों की एंट्री की संख्या को सीमित किया जाएगा।  यात्रियों के बीच 1 मीटर की दूरी सुनिश्चित की जाएगी। प्लेटफार्म पर भी सोशल डिस्टैंसिंग के लिए मार्किंग की जाएगी।


पब्लिक ट्रांसपोर्ट का प्लान


पब्लिक ट्रांसपोर्ट के लिए सख्त गाइडलाइन बन रही हैं। बसों और कैब ऐग्रीगेटर के लिए रियायत बढ़ सकती है। कॉंन्टैक्टलेस टिकटिंग, आरोग्य सेतु अनिवार्य होगा। सिर्फ 50 फीसदी सीटें भरी जाएंगी, कैब टैक्सी में दो पैसेंजर होगे। यात्री को मास्क, बस ड्राईवर्स के लिए PPE किट अनिवार्य होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।