Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

COVID 19- इन सरकारी और निजी कंपनियों ने मिलाया हाथ, बना रही हैं ventilators और masks

कई दिग्गज सरकारी और निजी कंपनियों ने वेंटिलेटर बनाने का एलान किया है।
अपडेटेड Mar 31, 2020 पर 09:47  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कोरोना वायरस से लड़ने के लिए इस्तेमाल होने वाले वेंटिलेटर और दूसरे प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनियों में आज तेजी दिख रही है। दरअसल कई दिग्गज सरकारी और निजी कंपनियों ने वेंटिलेटर बनाने का एलान किया है। इस समय भारत में करीब 40000 वेंटीलेटर्स हैं और डॉक्टरों को कहना है कि भारत को मई के मध्य तक 1 लाख वेंटीलेटर्स की और आवश्यकता पड़ेगी। वेंटिलेटर्स की इस जरूरत को पूरा करने के लिए बड़े उद्योग घरानों ने मदद का हाथ बढ़ाया है।


वेंटीलेटर्स की कमी से निपटने M&M आया आगे


M&M ने दो बड़ी सरकारी कंपनियों के साथ मिलकर काम करना शुरू कर दिया है और डिजाइन को सरल बनाने के साथ क्षमता बढ़ाने में उनकी मदद कर रहे हैं। इसके अलावा वे Bag Valve Mask ventilator (सामान्य रूप से अम्बू बैग के रूप में प्रसिद्ध) के स्वचालित संस्करण बनाने पर भी काम कर रहे हैं।


Maruti Suzuki और Tata Motors भी करेंगे मदद


Maruti Suzuki और Tata Motors ने भी सपोर्ट आइटम बनाने का काम करते हुए वेंटीलेटर्स निर्माताओं की सहायता करने की ओर कदम बढ़ाया है।


Reliance रोज बनायेगी 1 लाख मास्क


रिलायंस कंपनी ने वेंटिलेटर बनाने वाली कंपनियों की मदद की है। ये कंपनी रोज 1 लाख फेस मास्क बना रही है। इसके अलावा ये बड़े पैमाने पर PPE भी बना रही है।


BHEL के सभी डिवीजन इसी दिशा में कर रहे काम


भारत की सबसे बड़ी विद्युत उपकरण बनाने वाली कंपनी भारत हैवी इलेक्ट्रिकल्स लिमिटेड ने वेंटीलेटर्स निर्माताओं को वेंटीलेटर्स उत्पादन को बढ़ाने में सहायता प्रदान करने के लिए उनसे तकनीकी विवरण प्राप्त किये हैं। कंपनी के सारे विद्युत डिवीजन इस दिशा में ही काम कर रहे हैं।


BEL बना रही 30000  यूनिट


भारत इलेक्ट्रॉनिक्स 30000 वेंटीलेटर्स बना रही है जबकि स्वास्थ्य मंत्रालय के अधीन सरकारी कंपनी HLL Lifecare 10000 वेंटीलेटर्स का निर्माण कर रही है। कर्नाटक की मेडिकल उपकरण सप्लाई करने वाली कंपनी Skanray Technologies और बीईएल मिलकर वेंटीलेटर्स की डिजाइन को सरल बनाने पर काम कर रही हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter


(https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।