Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Covid-19: वाधवान बंधु को मुंबई लाने ED की टीम रवाना, महाराष्ट्र के प्रधान सचिव को जबरन छुट्टी पर भेजा

गृहमंत्री अनिल देशमुख ने गुरुवार रात CM से चर्चा के बाद अमिताभ गुप्ता को जबरन छुट्टी पर भेजने का फैसला लिया
अपडेटेड Apr 10, 2020 पर 18:49  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस संकट के समय जहां एक तरफ पूरा देश और महाराष्ट्र संपूर्ण लॉकडाउन की स्थितियों का सामना कर रहा है ऐसे में दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (DHFL) के संस्थापक वाधवान बंधु पहाड़ी क्षेत्रों के सुहाने मौसम का आनंद उठाने के लिए पूरे परिवार और दल-बल के साथ महाबलेश्वर पहुंचने की घटना से महाराष्ट्र में हड़कंप मच गया है।


गाडियों के काफिले और पूरे परिवार के साथ वहां पहुंचने पर स्थानीय लोगों ने पुलिस से शिकायत की जिसके बाद पुलिस ने उनकी गाड़ियों को कब्जे में लेकर पूरे परिवार को क्वारंटीन कर दिया है।


महाराष्ट्र टाइम्स में छपी खबर के अनुसार कपिल वाधवान और धीरज वाधवन को राज्य के प्रधान सचिव द्वारा VIP ट्रीटमेंट दिये जाने पर सरकार ने प्रधान सचिव अमिताभ गुप्ता को जबरन छुट्टी पर भेज दिया है। वाधवान बंधु को अमिताभ गुप्ता द्वारा मदद किये जाने की बात पता चलने के बाद सरकार ने ये कार्रवाई की है।


राज्य के प्रधान सचिव अमिताभ गुप्ता ने अपने अधिकारों का दुरुपयोग करते हुए वाधवान बंधु को मुंबई से महाबलेश्वर पहुंचने में सहायता की। मुंबई से महाबलेश्वर जाने के दरम्यान बीच में आनेवली जिलाबंदी और अन्य लॉकडाउन की अड़चनों से बचाने के लिए उन्हें वीआईपी पास जारी किया था जिसके चलते वाधवान बंधु सख्त लॉकडाउन के बावजूद महाबलेश्वर पहुंचने में सफल रहा।


इसके बाद गृहमंत्री अनिल  देशमुख ने मुख्यमंत्री से गुरुवार रात में चर्चा की और अमिताभ गुप्ता को जबरन छुट्टी पर भेजे जाने का निर्णय लिया  गया। गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा इसके पहले ही सरकार ने इस मुद्दे पर जांच के आदेश दिये हैं तब तक प्रधान सचिव छुट्टी पर रहेंगे।


उधर मुंबई से खंडाला और वहां से महाबलेश्वर पहुंचने वाले वाधवान बंधु की समस्याएं और बढ़ती दिख रही हैं। वाधवान बंधु द्वारा मुंबई से निकलने की जानकारी मिलते ही ईडी की टीम उनको परिवार सहित वापस मुंबई लाने के लिए महाबलेश्वर रवाना हो गई है।


बता दें कि DHFL के संस्थापक वाधवान बंधु की अंडरवर्ल्ड डॉन इकबाल मिर्ची कनेक्शन और यस बैंक लिए हुए कर्ज के बकाया मामले में ईडी द्वारा मनी लॉन्डरिंग नियम के अंतर्गत जांच शुरू है। इसमें इकबाल मिर्ची मामले में उन्हें फरवरी में जमानत मिल गई थी। लेकिन यस बैंक का मामला अभी विचाराधीन है। ऐसे में जांच जारी रहते हुए वाधवान बंधु मुंबई के बाहर निकल जाने और लॉकडाउन के दौरान आवाजाही भी बंद होने के दौरान मुंबई से महाबलेश्वर की यात्रा  करने के कारण उन्हें वापस मुंबई लाने के लिए  ईडी की  टीम महाबलेश्वर रवाना हो गई है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।