Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

COVID-19: लापरवाही पड़ेगी महंगी, सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र उपाय!

भारत में ज्यादातर राज्य कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है।
अपडेटेड Apr 02, 2020 पर 14:08  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

देश और दुनिया में कोरोना वायरस का संकट गहराता जा रहा है। भारत में ज्यादातर राज्य इसकी चपेट में आ चुके हैं। देशभर में 21 दिन का लॉकडाउन चल रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार बार सोशल डिस्टेंसिंग पर जोर दे रहे हैं। लेकिन कुछ लोगों की लापरवाही ने पूरे देश को खतरे में डाल दिया है। पिछले महीने दिल्ली के निजामु्द्दीन इलाके में मरकज में तबलिगी जमात कॉन्फ्रेंस में 8 हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। सरकार की चेतावनी के बाद भी मरकज में लोगों का जमावड़ा जारी रहा। इनमें से सैंकड़ों लोग अलग-अलग राज्यों में गए जिसकी वजह से कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या बढ़ गई है।


तबलिगी जमात मामले को लेकर केंद्र सरकार भी एक्शन में आ गई है। कैबिनेट सेक्रेटरी ने राज्यों को युद्ध स्तर पर जमात में शामिल लोगों के संपर्क में आए लोगों की पहचान करने के लिए कहा है। इसके अलावा तबलिगी जमात के आयोजकों और वीजा नियम की अनदेखी करके जमात के कार्यक्रम में शामिल विदेश नागिरकों पर कार्रवाई करने को भी कहा है। सरकार ने शहरों से पलायन करने वाले लोगों के लिए भी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं।


कोरोना को हराने का सोशल डिस्टेंसिंग ही एकमात्र विकल्प है। महाराष्ट्र, दिल्ली, केरल जैसे राज्यों में कोरोना के मामले तेजी से बढ़े हैं। ऐसे में लॉकडाउन के वक्त घर के अंदर रहना और जरूरी हो जाता है। लेकिन कुछ लोग इसका पूरी तरह से पालन नहीं कर रहे हैं। लोगों को ये समझना होगा कि अगर हमें इटली, स्पेन या अमेरिका नहीं बनना है तो सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाना होगा। नहीं तो हम कोरोना से जंग जीत नहीं पाएंगे।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।