Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Covid-19 का भय: 15 दिन में लोगों ने बैंकों से निकाले 53,000 करोड़ रुपये

13 मार्च को खत्म हुए fortnight में लोगों ने बैंकों से 53,000 करोड़ रुपये निकाले हैं। यह डेटा पिछले 16 महीने में सबसे ज्यादा है
अपडेटेड Mar 30, 2020 पर 09:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कोरोना वायरस से पूरी दुनिया में चिंता का माहौल है। लोगों के अंदर खौफ समाया हुआ है। इस इमरजेंसी जैसे हालात में लोग तेजी से अपने बैंकों से पैसा निकाल रहे हैं। पिछले 16 महीने में बैंकों से सबसे अधिक पैसे निकाले गए। बैंकों से इतना तेजी कैश निकालने में मामला सुर्खियों में छा गया है। 


इकोनॉमिकट टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक, 13 मार्च को खत्म हुए fortnight में लोगों ने बैंकों से 53,000 करोड़ रुपये निकाले हैं। यह डेटा पिछले 16 महीने में सबसे ज्यादा है। ये डेटा Reserve Bank of India (RBI) ने जारी किया है। अगर देखा जाए तो इतना ज्यादा कैश चुनाव या त्योहार के टाइम निकाला जाता है। केंद्रीय बैंक ने (Central Bank) ने बताया कि उसने बैंकों के जरिए 15 दिने में इतने रुपये दिए हैं। 13 मार्च तक लोगों के पास कुल 23 लाख करोड़ रुपये थे।


इधर डिजिटल ट्रांजैक्शन को भले ही बढ़ावा मिला हो, लेकिन जानकारों का मानना है कि आपात स्थिति में लोग खुद को तैयार कर रहे हैं। एक्सिस बैंक (Axis Bank) के चीफ इकोनॉमिस्ट सौगत भट्टाचार्य (Saugata Bhattacharya) ने कहा कि लोग चिंता था कि इस समय बैंक की शाखाओं और ATM तक पता नहीं पहुंच पाएंगे या नहीं। ऐसे में लोग बड़ी मात्रा में कैश निकाल रहे हैं।


बैंक अपने ग्रहकों को अधिक से अधिक ऑनलाइन ट्रांजैक्शन करने की सलाह दे रहे हैं। इधर प्लिपकार्ट (Flipkart) जैसी ई-कॉमर्स कंपनियों ने डिलिविरी सर्विस पर रोक लगा दी है। लोग अपनी आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी स्थगित नहीं कर सकते। ऐसे में लोगों को ऑफलाइन मार्केट की तरफ रूख करना पड़ेगा। जहां कैश की जरूरत होती है।


भट्टाचार्य ने आगे कहा कि लोग पहले जो किराना सामान और बाकी की जरूरत की चीजें ऑनलाइन खरीदते थे, वे अब लोकल दुकानदारों से खरीद रहे हैं।


लॉकडाउन के दौरान ज्यादातर आवश्यक वस्तुओं की खरीदारी कैश में होती है। State Bank of India (SBI) के चीफ इकोनॉमिस्ट एस के घोष ने हाल ही में एक रिसर्च नोट में कहा कि कैश की मांग अचानक बढ़ने से बैंकिंग सिस्टम में पर्याप्त नोट डालने की जरूरत है। 


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।