Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Covid-19: चीनी मिलों की हालत हुई खस्ता, शरद पवार ने PM को चिट्ठी लिख की राहत की मांग

NCP नेता शरद पवार ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर चीनी मिलों को जल्द ही राहत देने की मांग की है।
अपडेटेड May 16, 2020 पर 12:14  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

NCP नेता शरद पवार ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर चीनी मिलों को जल्द ही राहत देने की मांग की है। उनका कहना है कि कोरोना की वजह से चीनी मिलों की हालत खस्ता हुई है और ऐसे में सरकार को आगे आना चाहिए। शरद पवार ने चीनी का MSP कम से कम 300 रुपए बढ़ाकर 3750 रुपए प्रति टन करने की मांग की है।


प्रधानमंत्री को लिखी चिट्ठी में उन्होंने शुगर मिलो के लिए एक्सपोर्ट इन्सेंटिव देने और बफर स्टॉक बनाने के लिए स्पेशल फंड की भी मांग की है।


उन्होंने सभी टर्म लोन पर 2 साल का मोरटोरियम पीरियड देने की मांग की है और 10 साल के लिए रीशेड्यूल करने की भी मांग उठाई है। चिट्ठी में उन्होंने एथेनॉल प्रोजेक्ट के लिए सस्ते लोन की भी डिमांड रखी है।


दरअसल देशभर में लागू लॉकडाउनकी वजह से चीनी मिलों की हालत खराब है जिसे देखते हुए शरद पवार ने पीएम  मोदी से गन्ने की क्रशिंग के लिए 650 प्रति टन एकमुश्त ग्रांट की मांग की है। बता दें कि मौजूदा MSP 3,450 रुपये से बढ़ाकर 3,750 रुपये प्रति टन करने की मांग की है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।