Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

विदेश में बनी और विकसित कोरोना वैक्सीन की इमरजेंसी इस्तेमाल की मंज़ूरी की प्रक्रिया होगी तेज़

WHO,USFDA और PMDA से मंज़ूर विदेशी कोरोना वैक्सीन देश में आसानी और जल्दी मिल सकेगी।
अपडेटेड Apr 14, 2021 पर 10:33  |  स्रोत : Moneycontrol.com

DCGI यानी ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने स्पूतनिक V के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंज़ूरी दे दी है, इसके अलावा केंद्र सरकार ने बड़ा फैसला ये लिया है कि WHO,USFDA और PMDA से मंज़ूर विदेशी कोरोना वैक्सीन देश में आसानी और जल्दी मिल सकेगी। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल सभी राज्यों के राज्यपाल और उपराज्यपाल से कोरोना पर बैठक करेंगे। सरकार के इस फैसले से  pfizer, J&J और moderna जैसी दवा कंपनियों को फायदा हो सकता है


कल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सभी राज्यों के राज्यपाल और उपराज्यपाल के साथ करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए कोरोना पर चर्चा करेंगे। प्रधानमंत्री पहली बार उपराज्यपाल और राज्यपाल के साथ कोरोना की स्थिति पर चर्चा करेंगे। इस चर्चा में  उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भी शामिल होंगे। कल शाम करीब 6:00 बजे ये  बैठक होगी।  इससे पहले 8 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ कोरोना पर समीक्षा बैठक की थी।


कोरोना वैक्सीन के मुद्दे पर गठित एक एक्सपर्ट ग्रुप ने भी अमेरिकी और दूसरे देशों में इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी विदेशी वैक्सीनों को भारत में इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी देनें की सिफारिश की है।


स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने 13 अप्रैल को कहा है कि देश में विदेशी कोरोना वैक्सीन को इमरजेंसी यूज के लिए मंजूरी देने की प्रक्रिया को और तेज करने जा रही है। इससे देश में कोरोना वैक्सीन की उपलब्धता बढ़ाने में सहायता मिलेगी और देश में कोरोना टीकाकरण की गति को बढ़ाया जा सकेगा।


बता दें कि DCGI यानी ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया ने स्पूतनिक V के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंज़ूरी दे दी है। देश की ड्रग नियामक संस्था ने माना है कि रूस में विकसित कोरोना वैक्सीन स्पुतनिक V सुरक्षित है। यह वैक्सीन ऑक्सफ़ोर्ड-एस्ट्राज़ेनेका की कोविशील्ड वैक्सीन की तरह ही काम करता है। साइंस जर्नल द लैंसेंट में प्रकाशित आख़िरी चरण के ट्रायल के नतीजों के अनुसार स्पुतनिक V कोविड-19 के ख़िलाफ़ क़रीब 92 फ़ीसद मामलों में सुरक्षा देता है।


बता दें कि भारत में Pfizer-BioNTech, Moderna और Johnson & Johnson की COVID-19 को भारत में इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी नहीं। सरकार अब देश में इन वैक्सीनों के इस्तेमाल को मंजूरी देनें की प्रक्रिया तेज करने जा रही है। गौरतलब है इस कंपनियों की वैक्सीन को अमेरिका और यूरोप के कई देशों में इस्तेमाल किया जा रहा है ओर इनको यूएसएफडी जैसी नियामक संस्थाओं की मंजूरी भी हासिल है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.