Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

2-6% का वर्तमान inflation टार्गेट अगले 5 साल के लिए उपयुक्त- RBI report

इस तरह की अटकलें है कि सरकार आरबीआई ने ग्रोथ को सपोर्ट करने के लिए अपने महंगाई टार्गेट में नरमी लाने की मांग कर सकती है।
अपडेटेड Feb 27, 2021 पर 12:28  |  स्रोत : Moneycontrol.com

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने 26 फरवरी को करेंसी और फाइनेंस  पर जारी अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2 से 6 फीसदी का वर्तमान महंगाई लक्ष्य कीमतों में स्थिरता को सुनिश्चित करने के लिए अगले 5 साल तक के लिए सही है।


आरबीआई की यह टिप्पणी इस समय काफी अहम है जब यह अटकलें लगाई जा रही थी कि सरकार ग्रोथ को पुश देने के लिए आरबीआई से अपने महंगाई के लक्ष्य को नरम करने के लिए कह सकती है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत में ग्रोथ पर स्पष्ट रुप से विपरीत प्रभाव डालने वाली महंगाई दर 5 से 6 फीसदी मानी जाती है। इसका मतलब यह है कि देश में महंगाई की 6 फीसदी अपर लिमिट वर्तमान परिस्थितियों में उपयुक्त है।


इसी तरह देश में ग्रोथ को बनाए रखने के लिए महंगाई की न्यूनतम दर 2 फीसदी के आसपास रहनी चाहिए। अगर महंगाई दर 2 फीसदी से नीचे जाती है तो फिर भी ग्रोथ पर नेगेटिव असर देखने को मिलता है। ऐसे में 2 से 6 फीसदी का वर्तमान महंगाई दर लक्ष्य इकोनॉमी में कीमत स्थिरता और ग्रोथ के लिए अगले 5 साल के लिए उपयुक्त है।


बता दें कि सरकार ने  2016  में 5 अगस्त 2016 से 31 मार्च 2021 की अवधि के लिए 4 फीसदी  CPI महंगाई दर का लक्ष्य तय किया था।


पिछले महीने इस तरह की रिपोर्ट आ रही थी कि सरकार मॉनीटरी पॉलिसी फ्रेमवर्क के तहत CPI आधारित महंगाई लक्ष्य को बढ़ाने पर विचार कर रही है। अटकलें थी कि यह लक्ष्य 1 अप्रैल 2021 से बढ़ सकता है जिससे आरबीआई को महामारी से जूझ रही इकोनॉमी  को ग्रोथ पुश देने और पॉलिसी रेट में कटौती करने की सुविधा मिल जाएगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।