Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

IUC पर राय मशविरे के बाद ही होगा कोई फैसला: TRAI चेयरमैन

TRAI चेयरमैन के मुताबिक IUC पर कंसल्टेशन पेपर का यह मतलब नहीं है कि ट्राई इसे खत्म नहीं करना चाहता।
अपडेटेड Oct 15, 2019 पर 12:19  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

TRAI चेयरमैन आर एस शर्मा के मुताबिक IUC पर कंसल्टेशन पेपर जारी करने का यह मतलब नहीं है कि ट्राई इसे खत्म नहीं करना चाहता। सभी पक्षों से राय लेने के बाद ही इस पर कोई फैसला होगा। सीएनबीसी-आवाज़ से खास बातचीत में आर एस शर्मा ने कहा कि 5G की कीमतों पर फैसला अब सरकार को लेना है। OTT पर सिफारिशें अंतिम चरण में हैं। इन पर दूसरे देशों के रेगुलेशन का अध्ययन जारी है। IUC को जारी रखने पर अभी फैसला नहीं लिया गया है। सभी पक्षों से राय लेने के बाद ही फैसला लिया जाएगा।


बता दें कि IUC यानी इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज दूसरी कंपनी के नेटवर्क का इस्तेमाल करने के एवज में लिया जाने वाला चार्ज है। ट्राई ने 1 अक्टूबर 2017 को IUC चार्ज 14 पैसे से घटा कर 6 पैसे कर दिया था। इससे मोबाइल पर बात करना सस्ता तो हुआ लेकिन trai का मकसद देर सवेर iuc को जीरो करना था। इसके लिए टेलीकॉम कंपनियों को टेक्नोलॉजी में अपग्रेड करने की जरूरत थी। लेकिन पुरानी टेलीकॉम कंपनियों ने ऐसा नहीं किया। IUC पर TRAI की ढुलमुल पॉलिसी से रिलायंस जिओ IUC चार्ज लगाने पर मजबूर हो गई है। रिलायंस JIO अब अपने ग्राहकों से 6 पैसे प्रति मिनट की दर से IUC वसूल रही है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।