Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

दिल्ली की हवा खराब, कब निकलेगा पॉल्यूशन का असली सॉल्यूशन!

दिल्ली की हवा खराब है जी हां, दिल्ली की हवा खराब है और इतनी खराब है कि आपको काफी बीमार कर सकती है।
अपडेटेड Nov 03, 2019 पर 16:00  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

दिल्ली की हवा खराब है जी हां, दिल्ली की हवा खराब है और इतनी खराब है कि आपको काफी बीमार कर सकती है। अगर आप दिल्ली में रहते हैं तो आप चेन स्मोकर हैं भले ही आप सिगरेट न पीते हों लेकिन हवा की क्वालिटी के लिहाज से आप रोज कम सक कम बीस सिगरेट के बराबर धुंआं अपने अंदर ले रहे हैं, ये हालात कैसे बने इस पर बीस चल रही है और सबको लगता है कि दूसरे की गलती से ये हुआ है, दिल्ली को लगता है पंजाब और हरियाणा ने किया, पंजाब-हरियाणा को लगता है दिल्ली खुद जिम्मेदार है, केजरीवाल को लगता है केंद्र सरकार जिम्मेदार है और केंद्र को लगता है दिल्ली सरकार जिम्मेदार है, नतीजा दिल्ली सहित पूरे NCR के लोग जहरीली हवा ले रहे हैं और मासूम बच्चे परेशान हैं, कौन जिम्मेदार है इस पर बहस से बेहतर है हवा को ठीक करने पर काम होना चाहिए आज इसी पर चर्चा करेंगे।


दिल्ली की हवा खराब


दिल्ली में प्रदूषण से हालत खराब हो गए हैं। प्रदूषण बेहद खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। दिल्ली में AQI 500 के पार पहुंच गया है। नोएडा में AQI 600 के पार दिख रहा है जिसके चलते दिल्ली-NCR में हेल्थ इमरजेंसी घोषित कर दी गई है।


EPCA का एक्शन


दिल्ली-NCR में हेल्थ इमरजेंसी घोषित करते हुए 5 नवंबर तक सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं। सभी तरह के निर्माण कार्यों पर रोक लगा दी गई है। अगले आदेश तक पटाखे जलाने पर भी रोक लागू है।


SC में केंद्र सरकार का जवाब


SC में केंद्र सरकार ने अपने जवाब में कहा है कि 2016-2018 के बीच पराली जलाने में 41 फीसदी की कमी आई है। दिल्ली में प्रदूषण के पीछे पराली जलाना सबसे बड़ा कारण है। सरकार प्रदूषण कम करने के लिए कदम उठा रही है।


BJP पर केजरीवाल का वार


उधर प्रदूषण पर सियासत भी शुरू हो गई है। करेजरीवाल नें BJP पर वार करते हुए कहा है कि दिल्ली में पराली जलने की वजह से प्रदूषण हो रहा है। एक महीने पहले प्रदूषण कम था। बताएं कब तक पराली जलाना बंद कराएंगे। दिल्ली की जनता टाइम मांग रही है। खट्टर सरकार, पंजाब सरकार को टाइमलाइन बतानी होगी।


जावड़ेकर के निशाने पर केजरीवाल


बीजेपी नेता जावड़ेकर ने पलटवार करते हुए कहा कि प्रदूषण के लिए हरियाणा, पंजाब को दोष देना गलत है। दोष देने के बजाए प्रदूषण के खिलाफ एक्शन होना चाहिए। राज्यों को आपस में बैठकर नीति बनानी चाहिए। प्रदूषण कैसे कम हो इसकी चिंता करें।


घर में ये पौधे करेंगे प्रदूषण दूर
- मनी प्लांट
- एरिका पाम
- सेंस बेरिया


खतरनाक है वायु प्रदूषण


- दुनिया में बाहरी प्रदूषण से हर साल 42 लाख लोगों की मौत होती है।
- घर में प्रदूषण से हर साल 38 लाख लोगों की मौत होती है।
- 10 में से 9 लोग खराब हवा में सांस लेते हैं।


(स्रोत: WHO)


दिल्ली में यमराज बना प्रदूषण


- दिल्ली में वायु प्रदूषण से हर साल 10 हजार लोगों की मौत होती है।
- दिल्ली में सांस लेना रोजाना 20 सिगरेट पीने के बराबर है।
- 44 फीसदी स्कूली बच्चों के फेफड़ों ने काम करना कम किया।
- हर साल 60 लाख लोगों को अस्थमा अटैक होता है।


कौन कर रहा है दिल्ली की हवा खराब?


गाड़ियां 41 फीसदी, धूल 21.5 फीसदी, इंडस्ट्री 18.6 फीसदी, पावर सेक्टर 4.9 फीसदी, घरेलू प्रदूषण 3 फीसदी, अन्य 11 फीसदी।


(Source: SAFAR Study 2018)


पॉल्यूशन का असर


1. सांस से संबंधित बीमारी
2. दिल से संबंधित बीमारी
3. थकान, सिर दर्द
4. आंख, नाक, गले में जलन
5. लिवर को नुकसान
6. नर्वस सिस्टम को नुकसान


पॉल्यूशन का बच्चों पर असर


1. ब्रेन डैमेज हो सकता है
2. मेमोरी और IQ कम करता है
3. न्यूरो संबंधित बीमारी संभव


(Source: UNICEF)


स्मॉग से कैसे निपटें?


क्या ना करें?


- केमिकल फ्रेशनर, क्लीनर इस्तेमाल
- डिफॉल्ट मोड में कार AC ना चलाएं
- मॉर्निंग वॉक पर ना जाएं
- प्रेजर्वेटिव्स वाला खाना ना खाएं
- बाहर सर्जिकल मास्क ना पहनें


क्या करें?


- नेचुरल फ्रेशनर का इस्तेमाल
- AC इनडोर सर्कुलेशन मोड में चलाएं
- घर के अंदर व्यायाम करें
- गुड़, विटामिन C वाला खाना खाएं
- N95+ फिल्टर मास्क पहनें


उम्र घटा रहा है पॉल्यूशन !


- 7 साल तक उम्र घटा रहा है वायु प्रदूषण
- गंगा किनारे बसे राज्यों में ज्यादा असर
- दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, UP, बिहार, बंगाल में असर
- 1998-2016 तक इन इलाकों के पॉल्यूशन 72% बढ़ा 
- इन राज्यों में देश की 40 फीसदी आबादी रहती है


(स्रोत: EPIC)


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।