Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लोन की EMI रोकने से पहले कर लें जांच, EMI में छूट को लेकर बैंकों के नियम अलग-अलग

अगर आप लोन की EMI नहीं देना चाहते हैं तो आपको बेहद सतर्क रहना होगा। हर बैंक ने अपने-अपने हिसाब से नियम तय किए हैं।
अपडेटेड Apr 02, 2020 पर 11:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर आप लोन की EMI नहीं देना चाहते हैं तो आपको बेहद सतर्क रहना होगा। हर बैंक ने अपने-अपने हिसाब से नियम तय किए हैं। अधिकांश बैंकों के नियम कहते हैं कि अगर EMI नहीं देना चाहते हैं तो आपको बैंकों को इसकी सूचना देनी होगी। हां, कुछ सरकारी बैंकों ने EMI ऑटोमेटिक रोकने की सुविधा दी है।


किस-किस लोन पर लागू ?


Housing Loan, Loan Against Property, Auto Loan, Education Loan और Personal Loan, Credit card
 


बैंकों के नियम अलग अलग, क्या करना होगा?


कुछ सरकारी बैंकों में सूचित करने की जरूरत नहीं.


अगर EMI नहीं देनी है तो कुछ नहीं करना है.


इंडियन बैंक, IDBI बैंक में ये सुविधा है.


अगर EMI देना चाहते हैं तो बैंक को सूचित करें.


अधिकांश बैंकों में सूचित करने की जरूरत है.


अगर EMI नहीं देना चाहते हैं तो बैंक को बताएं.


PNB, SBI, ICICI Bank, HDFC Bank में बताना जरूरी.
 
कब से कब तक छूट?


1 मार्च 2020 से 31 मई 2020 तक पड़ने वाली EMI से छूट.


अगर मार्च में EMI दे चुके हैं तो दो महीने यानी अप्रैल से मई तक छूट.


HDFC Bank और ICICI Bank मांगने पर मार्च की EMI रिफंड देंगे.


ICICI Bank में EMI 27 मार्च के बाद कटी है तो रिफंड मिलेगा.
 
लोन अकाउंट पर क्या असर पड़ेगा?


लोन की अवधि 3 महीने बढ़ जाएगी.


3 महीने का ब्याज बकाया रकम में जुड़ जाएगा.


आगे की EMI के साथ ब्याज को एडजस्ट किया जाएगा.


क्रेडिट रेटिंग पर असर पड़ेगा?


क्रेडिट रेटिंग पर कोई असर नहीं पड़ेगा.
 
पुराने बकाये का क्या होगा?


1 मार्च से पहले का कोई Default/overdue है तो चुकाना होगा.


पुराने बकाये का भुगतान नहीं टाला जाएगा.


भुगतान नहीं करने पर पेनाल्टी लगेगी.


HDFC Bank में मार्च से पहले के बकाये को भी नहीं चुकाने की सुविधा.


क्रेडिट कार्ड का क्या होगा.


बकाया नहीं चुकाने की छूट, लेट पेमेंट चार्ज नहीं लगेगा.




सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।