Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ड्रोन उड़ाने की डगर है मुश्किल!

प्रकाशित Mon, 07, 2019 पर 10:34  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सरकार भले ही ड्रोन पॉलिसी के अगले चरण की तैयारी कर रही हो लेकिन आलम ये है, कि अभी तक पहले चरण में ही ड्रोन उड़ाने का परमिट तक नहीं मिला है। दरअसल ड्रोन उड़ाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराना जरूरा है और इसके लिए बनाए गए डिजी स्काई पोर्टल अब भी काम नहीं कर रहा है।


सरकार ने 1 दिसंबर को ड्रोन नीति घोषित की थी। इस नीति के तहत उन लोगों ड्रोन उड़ाने की मंजूरी दी गई थी जो इसके लिए जरूरी शर्तों को पूरा करेगा। लेकिन एक महीनें बाद भी ये नीति सिर्फ कागज पर है। ड्रोन उड़ाने वालों को अब भी इसके लिए रजिस्ट्रेशन पूरा करने में दिक्कत आ रही है। खुद सरकार का कहना है कि अब तक देश में ड्रोन उड़ाने के लिए एक भी परमिट जारी नहीं किया गया है। ड्रोन उड़ाने के लिए सरकार ने डिजी स्काई प्लैटफॉर्म बनाया है। लेकिन ये ठीक से काम नहीं कर रहा हैI जिसकी वजह से लोगों को अपनी तमाम जानकारियां देने के बाद भी यूनिक आइडेंटिफिकेशन नंबर नहीं  मिल रहा है। दिक्कत ये है कि बिना इस नंबर के ड्रोन उड़ाने की मंजूरी नहीं है।


अब तक लगभग 3000 से ज्यादा लोगों ने सरकार के इस पोर्टल पर रजिस्टर कर यूआईएन लेने की कोशिश की है। वहीं पोर्टल पर ड्रोन के पायलट और मालिक की डीटेलस दर्ज कराना होता है। लेकिन तकनीकी दिक्कतों की वजह से इसे पूरा करना मुश्किल हो रहा है। सरकार ड्रोन 2.0 यानी अगले फेज की नीति भी बना रही है, जिसमें ड्रोन से सामान की डेलिवरी की इजाजत होगी। लेकिन सवाल ये है कि बिना तकनीकी दिक्कतें दूर हुएI आम लोगों का ड्रोन उड़ाने का सपना कैसे पूरा होगा।