Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कम बारिश से महंगाई बढ़ने का खतरा, जरुरी कदम उठाने की तैयारी

इस मॉनसून कम बारिश की उम्मीद में सरकार ने खाने-पीने की चीजों की महंगाई पर लगाम के लिए कमर कस ली है।
अपडेटेड Jun 12, 2019 पर 16:30  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

इस मॉनसून कम बारिश की उम्मीद में सरकार ने खाने-पीने की चीजों की महंगाई पर लगाम के लिए कमर कस ली है। सरकार आटा, दाल, प्याज जैसी जरूरी खाने-पीने की चीजों की कीमतों पर नजर बनाए हुए है।


दाल की कीमतों में तेजी पर काबू के लिए केंद्र सरकार ने अक्टूबर तक 4 लाख टन अरहर इंपोर्ट करने का फैसला किया है। इसके अलावा खुले बाजार में बेचने के लिए बफर स्टॉक से नैफेड को 2 लाख टन अरहर सरकार देगी। नैफेड इसे नो प्रॉफिट नो लॉस पर बेचेगी।


सरकार प्याज के निर्यात के लिए इन्सेंटिव खत्म करेगी। बता दें कि सरकार प्याज निर्यात पर 10% इन्सेंटिव देती थी। घरेलू बाजार में बढ़ती कीमतों के देखते हुए फैसला लिया गया है। प्याज का 50,000 टन का बफर स्टॉक बनाया। साथ ही सरकार चीनी भी सस्ती दरों पर मुहैया कराएगी। PDS के जरिए 16 करोड़ परिवारों को चीनी सस्ती मिलेगी। साथ ही सरकार चीनी भी सस्ती दरों पर मुहैया कराएगी। PDS के जरिए 16 करोड़ परिवारों को चीनी सस्ती मिलेगी। वहीं नेशनल फूड सिक्योरिटी के तहत आटा कीमतों पर काबू के लिए गेंहू आवंटन को बढ़ाया जायेगा।