Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एफडीआई के नियमों से ई-कॉमर्स कंपनियां परेशान

प्रकाशित Sat, 05, 2019 पर 15:13  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एफडीआई के नियमों को लेकर फ्लिपकार्ट और अमेजॉन जैसी ई-कॉमर्स कंपनियां कोर्ट में अपील कर सकती है। कंपनियां बिजनेस मॉडल में बदलाव के लिए डेडलाइन बढ़ाने की मांग कर रही है। कंपनियों की माने तो बिजनेस मॉडल में बदलाव करने के लिए 1 महीने का वक्त काफी कम है। बता दें कि मॉडल बदलने के लिए 1 फरवरी डेडलाइन है। 26 दिसंबर को सरकार ने एफडीआई के नियमों को लेकर सफाई जारी की थी जिससे ईकामर्स कंपनियां संकट में हैं।


दरअसल सरकार ने ई-कॉमर्स सेक्टर के लिए प्रत्यक्ष विदेशी निवेश की नीति बदल दी है जिससे देश में ई-कॉमर्स सेक्टर में बड़े बदलाव हो सकते हैंI नए नियमों के मुताबिक ई-कामर्स कंपनियां अब अपनी रिटेल कंपनी का माल नहीं बेच पाएंगीI वो किसी भी कंपनी या वेंडर का 25 फीसदी से ज्यादा माल नहीं बेच सकतीI वहीं कंपनियां किसी विक्रेता के साथ सामान बेचने के लिए एक्सक्लूसिव करार नहीं कर सकती हैं, जैसा मोबाइल फोन के मामले मे अक्सर देखा जाता हैI इससे बड़े डिस्काउंट और कैशबैक जैसी स्कीमों पर असर पड़ेगाI


अब सभी विक्रेताओं के लिए एक जैसी शर्ते रखनी होंगी। किसी भी गड़बड़ी के लिए विक्रेता जिम्मेदार होगा और गारंटी-वारंटी भी विक्रेता ही देगा। इन कंपनियों को हर साल 30 सितंबर को अपनी आॉडिट रिपोर्ट रिजर्व बैंक को देनी होगी।