Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ई-वॉलेट धोखाधड़ी पर कंपनी उठाएगी नुकसान

प्रकाशित Sat, 05, 2019 पर 15:20  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर आप ई-वॉलेट का इस्तेमाल करते हैं तो ये खबर आपके लिए है। ई-वॉलेट या प्री पेड इंस्ट्रूमेंट का इस्तेमाल करने वाले कंज्यूमर के साथ बढ़ते फ्रॉड के मामलों को देखते हुए आरबीआई ने गाइडलाइंस जारी की है। नए गाइडलाइंस के मुताबिक अगर ग्राहक धोखाधड़ी की जानकारी कंपनी को 3 दिन में देता है तो कंपनी नुकसान की पूरी जिम्मेदारी उठाएगी। वही अगर 4 से 7 दिनों के बीच मामले की जानकारी दी जाती है तो ट्रांजैक्शन वैल्यू या फिर अधिकतम 10 हजार रुपये ग्राहक को दिए जाएंगे। अगर 7 दिन बाद ई-वॉलेट कंपनी को शिकायत की जाती है तो कंपनी अपनी पॉलिसी के तहत मामले को सुलझाएगी। आरबीआई ने यहां ये भी साफ किया है कि अगर किसी थर्ड पार्टी एजेंसी की लापरवाही की वजह से नुकसान होता है तो भी वो ही कंपनी नुकसान की भरपाई करेगी।