Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

2-3 साल में इकॉनोमी ग्रोथ 8 फीसदी संभव: केकी मिस्त्री

प्रकाशित Fri, 24, 2019 पर 16:40  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

बाजार के दिग्गज जानकारों का मानना है कि मोदी सरकार की वापसी से बाजार में निवेश के लिए अच्छा मौका है। हालांकि, कुछ जानकारों का मानना है कि नई सरकार का फोकस सिर्फ इकोनॉमी पर नहीं होगा। लेकिन सरकार के कदमों से इकोनॉमी को रफ्तार मिलेगी क्योंकि देश को चीन से आगे निकलना है। इन जानकारों का कहना है कि बाजार में निवेश के लिए काफी अच्छा मौका है। मिडकैप में काफी शेयर सस्ते वैल्युएशन पर मौजूद हैं। अगले 5 साल में निफ्टी में आसानी से 18000 का स्तर देखने को मिल सकता है।


क्रेडिट सुइस इंडिया के एमडी नीलकंठ मिश्रा का कहना है कि न्यायिक, डायरेक्ट टैक्स रिफॉर्म तेज होने की उम्मीद है। कई और पीएसयू बैंकों के मर्जर की उम्मीद है। आगे इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर में खर्च बढ़ सकता है जिसका सकारात्मक असर इकोनॉमी और बाजार पर देखने को मिलेगा।


कॉर्पोरेट दिग्गज भी मोदी सरकार की वापसी से खुश हैं। एचडीएफसी के वाइस चेयरमैन और सीईओ केकी मिस्त्री ने सीएनबीसी-आवाज़ से कहा कि जबरदस्त जीत के लिए मोदी सरकार को बधाई। पीएम मोदी को प्रचंड बहुमत मिला है। 5 सालों में मोदी सरकार का अच्छा काम करेगी। 2-3 साल में इकॉनोमी ग्रोथ 8 फीसदी संभव है। रोजगार बढ़ाने पर सरकार का फोकस होना चाहिए। रोजगार बढ़ने से खपत और घरों की डिमांड बढ़ेगी।


उन्होंने आगे कहा कि जीएसटी रेट घटने से हाउसिंग सेक्टर को राहत मिलेगी। ज्यादातर एनबीएफसी में अभी भी नकदी की दिक्कतें हैं। एनबीएफसी में नकदी बढ़ने से डिमांड बढ़ेगी। एचडीएफसी ग्रुप को नकदी की समस्या नहीं है। आरबीआई आगे ब्याज दर घटा सकता है। आरबीआई की नजर मॉनसून पर रहेगी। कमजोर मॉनसून से महंगाई पर असर पड़ेगा। आरबीआई की नजर महंगाई और कच्चे तेल पर रहेगी। अगली आरबीआई पॉलिसी में 0.25 फीसदी रेट कट संभव है।