Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

EXCLUSIVE: Swiggy अब रेस्तरां को क्रेडिट पर करेगा सामग्री की सप्लाई

टेस्टिंग के दौर से गुजर रही स्विगी स्टेपल्स प्लस स्विगी से सप्लाई लेने वाले रेस्टोरेंट्स को क्रेडिट पर जरुरी सामग्रियां उपलब्ध कराएगी
अपडेटेड May 28, 2020 पर 11:21  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बंगलूरू स्थिति फूड एग्रीगेटर कंपनी स्विगी (Swiggy) कोरोना के मार से जूझ रहे रेस्ट्रांट इंडस्ट्रीज के लिए एक नया ऑफर लेकर आई है जिसके तहत स्विगी से जुड़े रेस्टोरेंट को कंपनी क्रेडिट पर (उधारी पर) जरुरी  सामग्री उपलब्ध कराएगी। इस पहल का लक्ष्य कोविड 19 की वजह से उत्पन्न सप्लाई चेन गैप को भरना है।


मनीकंट्रोल को सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक स्विगी अपने नए वेंचर स्विगी स्टेपल प्लस के जरिए रेस्टोरेंट को पॉल्ट्री उत्पाद , मीट, वेजिटेबल और दूसरी सामग्रियों के साथ पैकेजिंग मटेरियल की आपूर्ति करने की तैयारी में है। स्विगी ने इस संदर्भ में मनीकंट्रोल की तरफ से की गई पूंछताछ का कोई जवाब नहीं दिया है। 


एक सूत्र ने गोपनीयता बनाए रखने के शर्त पर मनीकंट्रोल को बताया कि स्विगी स्टेपल प्लस अपने प्रारंभिक बीटा टेस्टिंग स्टेज में है। हमें इसको म्योचैर होने के लिए कुछ समय देना होगा। उसकी बाद ही हम यह जान पाएंगे कि यह कैसे काम करेगा। इस सूत्र ने आगे कहा कि स्विगी स्टेपल प्लस कंपनी की बिजनेस टू बिजनेस डिलीवरी शाखा है जो अपने परीक्षण के दैर में है। इसके जरिेए स्विगी से सप्लाई लेने वाले रेस्टोरेंट को उधार सामग्री लेने का विकल्प दिया जायेगा।


इस सूत्र ने यह भी बताया कि इस उधारी को स्विगी उन ग्राहकों से होने वाली कमाई से वसूलेगो जो ग्राहक स्विगी स्टेपल प्लस से उधार लेने वाले रेस्टोरेंट्स को अपना ऑर्डर देंगे।


रेस्टोरेंट्स के लिए स्विगी और जोमैटो को सप्लाई नेटवर्क से जुड़ना फायदेमंद रहेगा लेकिन इस प्रक्रिया के तहत रेस्तरां स्विगी और जोमैटो द्वारा बनाए गए इकोसिस्टम में फंस जायेंगे।


बता दें कि रेस्तरां पहले से ही इस कारोबार में स्विगी और जोमैटो के बढ़ते दबदबे के खिलाफ अवाज़ उठाते रहे हैं। यहां तक की रेस्ट्रांट इंडस्ट्री का  संगठन नेशनल रेस्ट्रांट एसोशिएशन ऑफ इंडिया अपना डिलिवरी नेटवर्क बनाने की कोशिश कर रहा है।


रेस्ट्रांट  कारोबारियों और  जोमैटो और स्विगी जैसे फूड डिलिवरी बिजनेस प्लेटफार्म्स के रिश्ते सहज नहीं रहे हैं।  रेस्ट्रांट कारोबारी इन दोनों कंपनियों पर प्रीडेटरी प्राइसिंग (predatory pricing) और कंज्यूमर डेटा शेयर ना करने का आरोप लगाती रही हैं।


गौरतलब है कि जोमैटो पहले से ही अपने रेस्तरां पार्टनर के लिए हाइपर प्योर नाम से एक रॉ  मटेरियल डिलिवरी नेटवर्क संचालित कर रहा है। जोमैटो भी हाइपर प्योर के जरिए अपने पार्टनर रेस्ट्रांट को क्रेडिट पर सामग्री आपूर्ति की सुविधा देती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।