Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आत्मनिर्भर भारत पैकेज से एक्सपोर्टर्स को फायदा, जानिए होमडेकोर-फर्निशिंग इंडस्ट्री का हाल

होमडेकोर और फर्निशिंग से जुड़े MSME एक्सपोर्टर्स को उम्मीद की किरण नजर आने लगी है।
अपडेटेड Jun 28, 2020 पर 14:46  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

होमडेकोर और फर्निशिंग से जुड़े MSME एक्सपोर्टर्स को उम्मीद की किरण नजर आने लगी है। हालांकि कोरोना की वजह से मार्च से एक्सपोर्ट ऑर्डर में करीब 40 से 60 फीसदी गिरावट दर्ज की गई थी। लेकिन अब एक बार फिर से ऑर्डर मिलने शुरू हो गए हैं। अनलॉक-1 में मर्केंडाइज एक्सपोर्टर्स के क्या हालात हैं।


 पिछले 25 साल से मर्केंडाइज एक्सपोर्ट के धंधे से जुड़े नोएडा के सीपी शर्मा को लॉकडाउन के बाद पहली बार करीब 25 हजार डॉलर का ऑर्डर स्पेन से मिला है और खाड़ी देशों से भी लगातार क्वैरीज आ रही हैं.। लिहाज़ा उन्होंने बैंक से 10 लाख रुपए का पैकिंग क्रेडिट लोन भी लिया है और आरबीआई के मोरेटोरियम का भी फायदा उठाया है लेकिन उन्हें अब पूरे साल में 50 से 60 फीसदी ही ऑर्डर मिलने की उम्मीद है। नए ऑर्डर लेने के लिए उन्हें कीमतों में करीब 20 फीसदी की कटौती भी करनी पड़ी है।


ग्लास एंड मेटल बेस्ड इंडियन हैंडीक्राफ्ट आइटम्स और होम फर्निशिंग की दुनियाभर में भारी मांग है लेकिन कोरोना संकट के चलते मर्केंडाइज एक्सपोर्ट्स के करीब 40 से 60 फीसदी तक ऑर्डर कैंसल हो चुके हैं। पिछले साल के मुकाबले अप्रैल महीने में ओवरऑल एक्सपोर्ट में करीब 60 फीसदी गिरावट दर्ज हुई। वहीं मई महीने में 36% एक्सपोर्ट गिर गया। इसका असर ना सिर्फ पूरे सेक्टर पर पड़ा है बल्कि इस सेक्टर से जुड़े देश के दूर दराज के इलाकों में बसे कारीगरों पर भी पड़ा है।


आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत सरकार ने दो एलान किए हैं, उसका फायदा एक्सपोर्टर्स को मिल रहा है। एक्सपोर्टर्स का कहना है कि हमें चीन से मुकाबला करना है लेकिन चीन की सरकार ना सिर्फ WTO के नियमों का खुलेआम उल्लंघन करती है बल्कि चोरी छिपे अपने मैन्युफैक्चरर्स को भारी सब्सिडी भी देती है जिससे वो बड़ी तादाद में डंपिंग करते हैं। ऐसे में सरकार हमारा साथ दे तो हम चीन को भी पछाड़ सकते हैं।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।