Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Covid-19: किसानों को फसल की बिक्री के लिए मिला Agri-Tech का सहारा

देश के किसान फ्राजो, एग्री10x और एग्री बाजार जैसे प्लेटफॉर्म के जरिए अपनी फसल की बिक्री कर रहे हैं
अपडेटेड May 19, 2020 पर 13:43  |  स्रोत : Moneycontrol.com

किसानों पर कोरोना वायरस लॉकडाउन की तगड़ी मार मार पड़ी है। उन्हें अपनी उपज बेचेने के लिए बाजार नहीं मिल रहा है। देश में लॉकडाउन घोषित होने के चलते आवागमन बंद है, लिहाजा किसानों को अपनी फसल की बिक्री में कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे हालात में देश के किसानों ने अपनी फसल की बिक्री करने के लिए तकनीकी सहारा लेना शुरू कर दिया है। किसान बिचौलियों से बचने के लिए एग्री टेक प्लेटफॉर्म की ओर रूख कर रहे हैं।


FreshVnF के को-फाउंडर (co-founder) और CEO  अतुल कुमार (Atul Kumar) ने कहा कि कोरोना वायरस के चलते बहुत से किसान हमारे प्लेटफॉर्म पर आ रहे है, क्योंकि उन्हें अपनी फसल की आपूर्ति करने के लिए कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं मिल पा रही है। इन दिनों कोरोना लॉकडाउन के चलते हमारे प्लेटफॉर्म पर ग्राहकों की संख्या में तीन गुना वृद्धि हुई है। लिहाजा हम अपनी पहुंच किसानों तक अधिक से अधिक बना रहे हैं। 


वहीं दो अन्य स्टार्टअप्स (startups) एग्रीबाजार (AgriBazaar) और एग्री10x (Agri10x) का कहना है कि हमें भी ऐसे ही रुझान देखने को मिल रहे हैं। AgriBazaar ऐप के प्लेटफॉर्म पर अप्रैल महीने में 5 गुना रजिस्ट्रेशन में बढ़ोतरी देखी गई है। Agri10x के सीईओ पंकज घोड़े (Pankajj Ghode) ने कहा कि हमारे प्लेटफॉर्म में मार्च से 150,000 नए किसान आए हैं। जबकि कोरोना वायरस के पहले हमें 100,000 किसानों तक पहुंच बनाने में 6 महीना लग गए।


फ्राजो (Fraazo), एग्री10 (Agri10x) और एग्री बाजार जैसे प्लेटफॉर्मों की वजह से किसानों को बिचौलियों से बचने में मदद मिली है। ये प्लेटफॉर्म दूसरे तरीके से ग्राहकों तक पहुंच बनाते हैं। इस प्लेटफॉर्म में होटल्स, रेस्टोरेंट और अन्य कई लोग शामिल हैं। जहां किसान अपनी फसल की बिक्री कर सकते हैं।


हाल ही में 20 लाख करोड़ रुपये के पैकेज में फाइनेंस मिनिस्टर निर्मला सीतारमण ने किसानों के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खास जोर दिया था। उन्होंने इसके लिए 1 लाख करोड़ रुपये की योजना लाने की बात कही थी। सीतारमण ने कहा था कि कोल्ड स्टोरेज बनाए जाएंगे। जिससे भंडारण क्षमता बढ़ेगी। किसानों की भी आमदनी बढ़ेगी। इसका लाभ किसान संघों और स्टार्टअप्स को मिलेगा।


कुल मिलाकर मोदी सरकार के प्रोत्साहन पैकेज से किसानों को नए बाजार और नई तकनीकी मिलने की उम्मीद है। ताकि किसानों की आमदनी में इजाफा हो सके।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें