Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

लद्दाख में तनातनी के बीच भारत-चीन के बीच आज बड़े फौजी अफसरों की अहम बातचीत

इस बैठक में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व 14वीं कॉर्प के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह कर रहे हैं।
अपडेटेड Jun 07, 2020 पर 11:29  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

लद्दाख में तनातनी के बीच आज पहली बार चीन और भारत के बड़े फौजी अफसरों की आपस में बात हो रही है।  लेफ्टिनेंट जनरल स्तर की ये पहली बातचीत है। माना जा रहा है कि इसके बाद LAC पर जो तनाव हाल में बढ़ा था उसके समाधान का रोडमैप आ सकता है। इससे पहले कल विदेश मंत्रालय के सेक्रेटरी स्तर पर दोनों देशों में बातचीत हुई थी। वीडियो कॉन्फ्रेंस में सहमति बनी थी कि दोनों देश बातचीत से ही पूरे मसले को सुलझाएंगे।


भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा के चीनी पक्ष में मोल्डो में फिलहाल बैठक चल रही है। सेना की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक दोनों देशों के बीच पूर्वी लद्दाख में LAC पर गतिरोध पर चर्चा के लिए यह बैठक आयोजित की गई है। फिलहाल दोनों देश के सैन्य कमांडरों के ये बातचीत जारी है।


इससे पहले दोनों देशों ने शुक्रवार को एक कूटनीतिक वार्ता थी जिसके दौरान उन्होंने एक-दूसरे की संवेदनशीलता और चिंताओं का सम्मान करते हुए शांतिपूर्ण चर्चा के माध्यम से अपने मतभेद को दूर करने की बात कही थी।


इस बैठक में भारतीय सेना का प्रतिनिधित्व 14वीं कॉर्प के कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह कर रहे हैं। चीनी सेना की ओर से मेजर जनरल लियू लिन ने इस बैठक में भाग लिया। मेजर जनरल लियू लिन चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के दक्षिण झिंजियांग सैन्य क्षेत्र के कमांडर हैं। मिनिस्ट्री ऑफ अफेयर के संयुक्त सचिव नवीन श्रीवास्तव ने चीनी विदेश मंत्रालय के डायरेक्टर जनरल के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस मीटिंग की थी।


बता दें कि 5 मई को पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग लेक के पास भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प हुई थी। उसके बाद फॉरवर्ड पोजिशंस पर भारत ने तैनाती बढ़ा दी है। गलवान नाला और पैंगोंग लेक के पास सैनिक बढ़ाए गए हैं। जमीनी स्तर पर सेना के बीच बातचीत जारी रहने के साथ सीमा पर भारत का निर्माण कार्य जारी है। सीमा पर भारत के निर्माण कार्य से चीन चिढ़ा हुआ है। रोड, एयर कनेक्टिविटी में चीन के दबदबे को चुनौती मिल रही है। भारत सीमा पर 4,643 किमी की 73 सड़कें बना रहा है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।