Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

FPI ने जुलाई में शेयरों से 7,712 करोड़ रुपये निकाले

पिछले पांच महीने में एफपीआई इक्विटी सेगमेंट में शुद्ध निवेशक थे।
अपडेटेड Jul 21, 2019 पर 14:37  |  स्रोत : Moneycontrol.com

विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआई) ने जुलाई महीने में अभी तक भारतीय शेयर बाजारों से 7,712 करोड़ रुपये निकाल ले गए। जानकारों का कहना है कि बजट में सुपर रिच टैक्स की घोषणा के बाद एफपीआई ने ये रकम निकाली है। इससे पिछले 5 महीनों से एफपीआई इक्विटी सेगमेंट में शुद्ध निवेशक बने हुए थे।


डिपॉजिटरी के पास मौजूद ताजा आंकड़ों के मुताबिक, 1 से 19 जुलाई तक एफपीआई ने शेयरों से 7,712.12 करोड़ रुपये निकाले हैं। हालांकि, इस दौरान एफपीआई ने डेट सेगमेंट में 9,371.12 करोड़ रुपये का निवेश किया। इस तरह जुलाई में अब तक भारतीय पूंजी बाजार (इक्विटी और डेट) में एफपीआई का शुद्ध निवेश 1,659 करोड़ रुपये रहा।


मॉर्निंगस्टार के सीनियर एनालिस्ट मैनेजर हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा कि, सरकार ने अपने बजट में सुर रिच टैक्स का प्रस्ताव रखने से एफपीआई लगातार बिकवाली कर रहे हैं। सरकार की ओर से किसी तरह की राहत मिलती नजर नहीं आ रही है। जिसकी वजह से रुपये निकालने में बढ़ोत्तरी हुई है।


इसके अलावा उन्होंने ये कहा कि कंपनियों के कमजोर तिमाही नतीजों, जीडीपी वृद्धि की सुस्त रफ्तार, उम्मीद से कमजोर मानसून और एशियाई विकास बैंक द्वारा देश की वृद्धि दर के अनुमान को कम किए जाने से भी विदेशी निवेशक निवेश से दूर भाग रहे हैं।