Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अभी से संवारे नन्ही परी का भविष्य, एक्सपर्ट से जानें बेटी के लिए निवेश और आर्थिक सुरक्षा

बेटी को जल्द निवेश का तोहफा देना चाहिए। बेटी के जन्म से ही निवेश शुरू करना चाहिए।
अपडेटेड Sep 22, 2019 पर 13:04  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आपकी नन्ही परी, आपकी बिटिया, कब कैसे बड़ी होकर मन चाही जिदंगी जीने निकल जाएं, आपको पता भी नहीं चलेगा। लेकिन वो अपने जीवन में जहां भी जाए, आपकी दी हई तालीम, तरबियत के साथ एक और चीज उसकी आजाद सोच उसके साथ ता उम्र रहेगी। जो माता पिता के तौर पर आपको उसके आज में शामिल करनी होगी।


हमारा देश महिलाओं की आजा़द सोच, आजा़द जिंदगी के मामले में अब भी काफी पीछे है। फाइनेंशियल प्लानर और सीएनबीसी-आवाज़ इस खास शो में ये कोशिश करेंगे कि हमारी बेटियां ना सिर्फ अपने पैरों खडे हों, बल्कि इस बुलंद भारत की तस्वीर में ऊंचा मकाम भी बना पाए।


बेटी को बनाएं फाइनेंशियली स्ट्रॉन्ग


इसके लिए फाइनेंस की सटीक जानकारी देना जरूरी होता है। फाइनेंस की जानकारी नहीं देना गलत बात है। इससे मनी मैनेजमेंट में बेटी आगे रहेगी। सही गाइडेंस देने की जरुरत होती है।


बेटी को दें बीमा सुरक्षा


इंश्योरेंस से फाइनेंशियल सुरक्षा भी दी जा सकती है। सही वक्त पर निवेश से लक्ष्य पूरे होंगे। बीमा पॉलिसी में बेटी को जरूर शामिल करें


बेटी का हेल्थ इंश्योरेंस


बेटा नहीं बेटी को भी मेडिकल कवर देना चाहिए। हेल्थ पॉलिसी से बेटी बीमारी से बचेगी। हेल्थ पॉलिसी ना लेने से दिक्कतें होंगी।


जल्द निवेश का तोहफा


बेटी को जल्द निवेश का तोहफा देना चाहिए। बेटी के जन्म से ही निवेश शुरू करना चाहिए। छोटा निवेश ज्यादा मुनाफा देगा। डेट से दूर रहें। डेट में निवेश से ज्यादा रिटर्न नहीं मिलता है। इक्विटी में डेट के मुकाबले ज्यादा निवेश करना चाहिए।


सुकन्या समृद्धि योजना


सुकन्या समृद्धि योजना इस स्कीम में निवेश के कई फायदे हैं। निवेश पर 80C के तहत टैक्स छूट प्राप्त होती है। दूसरे विकल्प के मुकाबले ज्यादा रिटर्न मिलता है। स्कीम से बेटी का भविष्य सुरक्षित होगा।


निवेश की राशि जरूर बढ़ाएं


भविष्य में अपनी जरूरतें पूरी करने के लिए निवेश बढ़ाएं। एक वक्त के बाद निवेश में बढ़ोतरी करना जरूरी होता है। ऐसा करने से पढ़ाई समेत दूसरे लक्ष्यों में मदद मिलेगी।


बेटी को बनाएं आत्मनिर्भर


बेटी को पैसों को लेकर शुरू से आत्मनिर्भर बनाएं। उसे बैंक खाता खोलने के लिए प्रोत्साहन दें। बच्चें 10 साल में बैंक खाता खोल सकते हैं।


निवेश की रणनीति


निवेश की रणनीति बनाने के लिए बाजार में कई फाइनेंशियल प्रोडक्ट मौजूद हैं। वित्तीय लक्ष्य पूरा करने वाले प्रोडक्ट खरीदें। चाइल्ड इंश्योरेंस जैसे प्लान से बचना चाहिए।


नकद रकम जरूर रखें


नकद रकम भी रखनी चाहिए क्योंकि रोजमर्रा के लिए भी पैसों की जरुरत होती है। इमरजेंसी फंड के लिए निवेश करें। मुश्किल वक्त में इमरजेंसी फंड साथ देगा।


टेक फ्रेंडली बने बेटी


बेटी को टेक फ्रेंडली बनाने के लिए बेटी के लिए डिजिटल निवेश जरूरी होता है। डिजिटल निवेश के तौर-तरीके बताएं। आर्थिक रूप से आजाद बनाने में मदद करें।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।