Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Galwan clash: महाराष्ट्र ने चीन को दिया झटका, 5000 करोड़ रुपये के चीनी प्रोजेक्ट पर लगाई रोक

महाराष्ट्र सरकार ने केंद्र सरकार के चीनी निवेश के साथ आयात- निर्यात कारोबार डिटेल मांगने के बाद यह फैसला लिया है
अपडेटेड Jun 23, 2020 पर 08:20  |  स्रोत : Moneycontrol.com

भारत चीन के बीच सीमा विवाद गहराता जा रहा है। लद्दाख की गलवान घाटी में हुई झड़प में 20 जवानों के शहीद होने पर देश में गुस्से का माहौल है। सरकारें भी चीनी कंपनियों से अपना खत्म करने के कगार पर पहुंच रही हैं।
 
महाराष्ट्र की उद्धव सरकार ने भी चीन को जोरदार झटका दिया है। सरकार ने 5000 करोड़ रुपये के 3 प्रोजेक्ट के MoU (memorandums of understanding) पर रोक लगा दी है। यह फैसला राज्य सरकार ने केंद्र सरकार के चीनी निवेश के साथ आयात- निर्यात कारोबार डिटेल मांगने के बाद लिया है।


जिन 3 प्रोजेक्ट्स पर रोक लगाई गई है उसमें ग्रेट वॉल मोटर्स (Great Wall Motors) का 3,770  करोड़ रुपये का MoU पर रोक लगा दी गई है। 1,000 करोड़ रुपये का पीएमआई इलेक्ट्रो मोबिलिटी (PMI Electro Mobility) और 250 करोड़ रुपये का हेंगली (Hengli) प्रोजेक्ट पर रोक लगा दी गई है। महाराष्ट्र सरकार ने हाल ही में हुए मैकी ग्नेटिक महाराष्ट्र 2.0 इनिसिएटिव (Magnetic Maharashta 2.0 initiative) सम्मेलन में चीनी कंपनियों के साथ तीन समझौतों पर हस्ताक्षर किए थे। तीनों चीनी फर्मों को महाराष्ट्र के तालेगांव (Talegaon) जिले में निवेश करना था।


सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र सरकार चीनी कंपनियों से हुए करार पर कोई अंतिम निर्णय के पहले केंद्र सरकार की इन्वेस्टमेंट पॉलिसी आने का इंतजार करेगी। 


Great Wall Motors ने CNBC-TV18 को बताया कि कंपनी को महाराष्ट्र सरकार की ओर MoU के बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं मिली है। कंपनी लगातार अपने प्रोजेक्ट्स पर नजर बनाए हुए हैं। कंपनी जल्द ही प्रोडक्शन शुरू कर देगी और 2021 तक अपनी पहली कार लॉन्च करने के प्रतिबद्ध है।  


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।