Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

सोने की चमक फीकी, कमोडिटी में क्या करें

प्रकाशित Wed, 09, 2019 पर 11:36  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सोने की चमक फीकी पड़ गई है। घरेलू बाजार में कमजोर रुपये से भी सपोर्ट नहीं है। ग्लोबल मार्केट में आई गिरावट का असर घरेलू बाजार पर दिख रहा है। दरअसल घरेलू बाजार में सोने की मांग कमजोर पड़ गई है। जीएफएमएस के मुताबिक पिछले साल भारत में सोने का इंपोर्ट करीब 15 फीसदी गिरकर 760 टन के भी नीचे आ गया है। बताया जा रहा है कि 5 राज्यों में सूखे की वजह से ग्रामीण मांग बेहद कमजोर है। ऊपर से कमजोर रुपये से कीमतों को अनिश्चितता बनी हुई है।


इस बीच डॉलर के मुकाबले रुपए में कमजोरी बढ़ गई है। डॉलर की कीमत 70.5 रुपये के पास चली गई है। इस साल के शुरूआत से रुपया करीब 1 फीसदी कमजोर हो गया है। दरअसल कच्चे तेल का दाम बढ़ता जा रहा है पिछले दो हफ्ते में क्रूड का दाम करीब 16 फीसदी उछल चुका है।


बेस मेटल में चमक लौट आई है, ग्लोबल मार्केट में आई तेजी और रुपये में कमजोरी से घरेलू बाजार में कॉपर समेत सभी मेटल तेज हैं। दरअसल चीन ने ऑटो और होम अप्लाएंसेस सेक्टर में निवेश बढ़ाने का सकेत दिया है।


एग्री की बात करें तो वायदा में चना 2 महीने के निचले स्तर से संभलता दिख रहा है। जबकि पैदावार बढ़ने के अनुमान से सरसों पर दबाव है। लेकिन सोयाबीन बढ़त बनाने में कामयाब है। इस बीच धनिया का भाव करीब 1 फीसदी गिर गया है। इस बीच खबर है कि सरकार अब प्राइवेट एजेंसी के जरिए दाल का बफर स्टॉक संभालेगी। इस काम के लिए सरकार ने पीडब्ल्यूसी को चुना है।