Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

खान-पान में मिलावट पर शिकंजा

प्रकाशित Mon, 31, 2018 पर 16:17  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

अगर आपको खाने-पीने के सामान में मिलावट या क्वालिटी घटिया होने का संदेह है तो जल्द ही आप अपनी दुविधा को दूर कर पाएंगे। सीएनबीसी-आवाज़ को मिली एक्सक्लूसिव जानकारी के मुताबिक वित्त मंत्रालय ने टेस्टिंग लैबोरेट्री के लिए एफएसएसएआई को 200 करोड़ रुपये का आवंटन किया है। सरकार की फूड टेस्टिंग लेबोरेट्री का जाल बिछाने की तैयारी है जिससे अब आप अपने शहर में खाने-पीने में मिलावट की जांच करा सकेंगे। टेस्टिंग लेबोरेट्री और आधुनिकीकरण के लिए ये रकम मिली है। मिलावट पाए जाने पर एफएसएसएआई जांच का खर्च देगा।


बता दें कि सीएजी ने अपनी हालिया रिपोर्ट में एफएसएसएआई की खिंचाई की थी। अभी देश में सवा करोड़ की आबादी पर एक लैब काम कर रही है। देश में 72 टेस्टिंग लैब काम कर रही हैं। 65 लैब एनएबीएल से मान्यता प्राप्त नहीं हैं।