Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

एयर इंडिया पर सरकार ने नियुक्ति, प्रमोशन पर लगाया ब्रेक

पिछले कार्यकाल में बोली लगाने वाले को ढूंढ़ने में नाकाम रही मोदी सरकार इस कार्यकाल में एयर इंडिया को निजी हाथों में देने के लिए युद्ध स्तर पर काम कर रही है।
अपडेटेड Jul 21, 2019 पर 11:59  |  स्रोत : Moneycontrol.com

आर्थिक संकट की मार झेल रही एयर इंडिया के कर्मचारियों की नियुक्ति और प्रमोशन पर सरकार ने रोक लगा दी है। साथ ही सभी नई फ्लाइट तभी शुरू होंगी जब काफी जरूरी हो और कारोबार में लाभ हो। शायद तेजी से निजीकरण की तरफ बढ़ रहा ये सबसे बड़ा इशारा है।



सूत्रों के मुताबिक, ये निर्देश डिपार्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक असेट मैनेजमेंट (डीआईपीएएम) की ओर से एक हफ्ते पहले आ गए थे। इसके अनुसार, आगामी निजीकरण को देखते हुए कोई बड़ा कदम नहीं उठाया जाना है। इसके तहत नियुक्तियां और प्रमोशन रोक दी जाएगी।


अपने पिछले कार्यकाल में बोली लगाने में विफल होने के बाद 2.0 मोदी सरकार अब एयर इंडिया को निजी हाथों में बेचने पर काम कर रही है। सरकार ने पहले ही एयर इंडिया विनिवेश पर मंत्री समूह पुनर्गठित किया है। गृह मंत्री अमित शाह इस समूह की अगुवाई करेंगे। एक मीडिया रिपोर्ट में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि इस समूह से सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी को हटा दिया गया है। ये मंत्री समूह एयर इंडिया की बिक्री के तौर तरीके तय करेगा।


इसमें अमित शाह समेत कुल चार केंद्रीय मंत्री शामिल होंगे। शाह के अलावा वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, वाणिज्य और रेल मंत्री पीयूष गोयल और नागर विमानन मंत्री हरदीप पुरी शामिल होंगे।


आपको बता दें कि, एयर इंडिया पर कुल लगभग 58,000 करोड़ रुपये का कर्ज है। राष्ट्रीय विमानन कंपनी का संचयी नुकसान 70,000 करोड़ रुपये है। इसी साल 31 मार्च को खत्म हुए वित्त वर्ष में विमानन कंपनी को 7,600 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है।