Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

सरकारी कर्ज के टार्गेट में बदलाव नहीं, वित्तीय घाटे का लक्ष्य भी 3.4% पर बरकरार

साल की दूसरी छमाही के लिए सरकारी कर्ज के टार्गेट में कोई बदलाव नहीं होगा।
अपडेटेड Oct 01, 2019 पर 12:47  |  स्रोत : Moneycontrol.com

साल की दूसरी छमाही के लिए सरकारी कर्ज के टार्गेट में कोई बदलाव नहीं होगा। साथ ही वित्तीय घाटे का लक्ष्य भी 3.3 फीसदी ही रहेगा। आर्थिक मामलों के सचिव अतनु चक्रवर्ती ने कहा है कि 2 लाख 68 हजार करोड़ कर्ज में इस साल सोवरेन बॉन्ड नहीं होंगे। सरकार अक्टूबर से लेकर मार्च तक 17 साप्ताहिक गिल्ट ऑक्शन का आयोजन करेगी। हर सप्ताह 16000 करोड़ रुपये का कर्ज लिया जाएगा। आखिरी 2 सप्ताह में 14000 करोड़ रुपये का कर्ज लिया जाएगा। इनकी मैच्योरिटी 4 से 5 तरह की होगी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।