Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

सरकार ने हवाई यात्रियों के लिए Self-declaration फॉर्म में किया बदलाव, यात्रा करना हुआ आसान

कोरोना वायरस महामारी की वजह से दो महीने बाद भारत में 25 मई से डोमेस्टिक फ्लाइट शुरू किया गया था
अपडेटेड Jul 13, 2020 पर 08:21  |  स्रोत : Moneycontrol.com

डोमेस्टिक फ्लाइट से अगर आप उडान भर रहे हैं तो आपके लिए सरकार ने नियमों में कुछ ढील दे दी है। विमानन मंत्रालय (Civil Aviation Ministry) ने एयरलाइन कंपनियों से कहा है कि जिन यात्रियों ने सेल्फ-डेक्लेरेशन (self-declaration form - स्व-घोषणा फॉर्म) जमा किए हैं कि उड़ान शुरू करने की तारीख से पहले तीन हफ्तों के दौरान उनमें कोविड-19 की पुष्टि नहीं हुई है, उन्हें हवाई सफर की अनुमति दी जाएगी। अधिकारियों ने यह जानकारी दी है।


सरकार ने 21 मई को सभी यात्रियों के लिए विमान में यात्रा करने से पहले एक सेल्फ-डेक्लेरेशन फॉर्म जमा करना जरूरी कर दिया था। जिसमें यात्रियों को बताना था कि डिपार्चर डेट से पहले दो महीने के दौरान वो कोरोना वायरस संक्रमित नहीं हुए हैं।


अधिकारियों ने PTI से बताया कि चूंकि भारत में अब बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जो इस जानलेवा बीमारी से उबर चुके हैं। उन्हें किसी भी तरह की परेशानियों से बचने के लिए सेल्फ-डेक्लेरेशन फॉर्म को अपडेट करने की जरूरत महसूस की गई। अधिकारियों ने आगे कहा कि इसलिए कुछ दिन पहले सरकार ने एयरलाइन कंपनियों को बताया कि यात्रियों को लिखित में यह घोषणा करनी होगी कि उड़ान से पहले वो पिछले 3 हफ्तों में कोरना वायरस की जांच में संक्रमित नहीं पाए गए हैं। 


अधिकारियों ने कहा कि जिन लोगों को कोरोना वायरस से रिकवर हुए 3 हफ्ते हो गए हैं। साथ ही अस्पताल से उन्हें डिस्चार्ज का सार्टिफिकेट मिल गया है। उन्हें यात्रा करने की मंजूरी दी जाएगी। 


भारत में अब तक संक्रमित हुए 8.2 लाख संक्रमित लोगों में से 5.15 लाख रिकवर हो चुके हैं। इसका मतलब रिकवरी रेट 63 फीसदी है। देश में कोरोना वायरस से अब तक 22,000 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।


भारत में कोरोना वायरस महामारी के चलते करीब 2 महीने बाद डोमेस्टिक फ्लाइट सर्विस शुरू की गई। जो कि 25 मई से शुरू कर दी गई थी।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।