Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

क्रिप्टोकरेंसी पर लग सकता है बैन, सरकारी समिति ने डिजिटल करेंसी का दिया सुझाव

सुभाष गर्ग समिति ने इंडियन डिजिटल करेंसी जारी करने का सुझाव दिया है।
अपडेटेड Jul 23, 2019 पर 10:49  |  स्रोत : Moneycontrol.com

कुछ समय पहले बिटकॉइन खूब चर्चा में आया था। सुर्खियों में था कि बिटकॉइन में निवेश करने पर करोड़ों रुपये मिल रहे थे। इसी बिटकॉइन के तर्ज पर फेसबुक  क्रिप्टोकरेंसी लॉन्च करने की तैयारी में है। हालांकि भारत में क्रिप्टो करेंसी को झटका लग सकता है।



मीडिया रिपोर्ट्स में छपी खबरों के मुताबिक, आर्थिक मामलों के सचिव की अगुआई एक सरकारी समिति का गठन किया गया था। इस समिति ने देश में निजी क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगाने का सुझाव दिया है। समिति ने इससे संबंधित लेन-देन करने वालों पर 25 करोड़ रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। साथ ही इस मामले में 10 साल तक की सजा की सिफारिश भी की गई है।


अगर समिति का यह सुझाव मोदी सरकार मान लेती है तो फेसबुक जैसी कंपनियों के लिए बड़ा झटका साबित हो सकता है जो क्रिप्टोकरेंसी लांच करने की तैयारियों में जुटी हैं।


सरकारी समिति ने केंद्रीय डिजिटल करेंसी लाने पर भी विचार करने का सुझाव दिया है। हालांकि समिति ने कहा है कि क्रिप्टोकरेंसी के लिए उपयोग में लाई जाने वाली तकनीक, डिस्ट्रिब्यूटेड लेजर टेक्नोलॉजी (डीएलटी) फाइनेंशियल बिजनेस, केवाईसी लागत में कमी लाई जा सकती है। साथ ही क्रेडिट ऐसेट बेहतर किया जा सकता है। इसके अलावा देश के फाइनेंशियल और नॉन फाइनेंशिय सेक्टर में बेहतर उपयोग किया जा सकता है।



बता दें कि इस समिति की अध्यक्षता वित्त सचिव सुभाष गर्ग कर रहे हैं। साथ ही इलेक्ट्रॉनिक और आईटी सचिव अजय प्रकाश साहनी, सेबी के बोर्ड अध्यक्ष अजय त्यागी और आरबीआई के डिप्टी गर्वनर बीपी कानूनगो शामिल हैं।