Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ग्रोथ ने पकड़ी रफ्तार, अप्रैल में आईआईपी बढ़कर 3.4%

अप्रैल में आईआईपी ग्रोथ मार्च के 0.4 फीसदी से बढ़कर 3.4 फीसदी पर आ गई है।
अपडेटेड Jun 12, 2019 पर 19:48  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ईकोनॉमी में सुधार के संकेत दिखने लगे हैं। अप्रैल में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन में अच्छा सुधार दिखा है। मार्च में आईआईपी निगेटिव होने के बाद अप्रैल में ये 3.4 फीसदी की रफ्तार से बढ़ी है। आईआईपी में ये ग्रोथ उम्मीद से बेहतर रही है। सबसे अच्छा सुधार मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में दिखा जो 2.75 फीसदी की रफ्तार से बढ़ी है। कैपिटल गुड्स सेक्टर की ग्रोथ -9 फीसदी से बढ़कर 2.5 फीसदी रही। प्राइमरी गुड्स में 5.25 फीसदी की ग्रोथ दर्ज की गई है, जबकि कंज्यूमर ड्यूरेबल्स में ग्रोथ करीब 2.5 फीसदी रही।


महीने दर महीने आधार पर अप्रैल में माइनिंग ग्रोथ 0.8 फीसदी से बढ़कर 5.1 फीसदी और मैन्युफैक्चरिंग ग्रोथ -0.4 फीसदी से बढ़कर 2.8 फीसदी पर आ गई है। इसी तरह इलेक्ट्रिसिटी प्रोडक्शन में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। महीने दर महीने आधार पर अप्रैल में इलेक्ट्रिसिटी ग्रोथ 2.2 फीसदी से बढ़कर 6 फीसदी पर रही है।


महीने दर महीने आधार पर प्राइमरी गुड्स की ग्रोथ 2.5 फीसदी से बढ़कर 5.2 फीसदी पर आ गई है। महीने दर महीने आधार पर कैपिटल गुड्स की ग्रोथ -8.7 फीसदी से बढ़कर 2.5 फीसदी रही है वहीं इंटरमीडियेट गुड्स की ग्रोथ -2.5 फीसदी से बढ़कर 1 फीसदी रही है।


अप्रैल में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ में भी बढ़ोतरी हुई है। महीने दर महीने आधार पर अप्रैल में कंज्यूमर ड्यूरेबल्स की ग्रोथ -5.1 फीसदी से बढ़कर 2.4 फीसदी पर आ गई है जबकि कंज्यूमर नॉन ड्यूरेबल्स की ग्रोथ 0.3 फीसदी से बढ़कर 5.2 फीसदी पर आ गई है।