Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ऑटो कंपोनेंट, रेलवे वैगन और टेक्सटाइल सेक्टर को GST में राहत जल्द

सुस्ती से जूझ रहे ऑटो कंपोनेंट, रेलवे वैगन और टेक्सटाईल सेक्टर को GST दरों में राहत मिल सकती है
अपडेटेड Sep 08, 2019 पर 12:29  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

सुस्ती से जूझ रहे ऑटो कंपोनेंट, रेलवे वैगन और टेक्सटाईल सेक्टर को GST दरों में राहत मिल सकती है। वित्त मंत्रालय ऐसे कई आईटम्स की GST दरों में बदलाव करने की तैयारी कर रहा है। दरअसल आज से फिटमेंट कमिटी की दो दिनों की बैठक शुरू हो रही है, जिसमें कई अहम प्रस्ताव तैयार होने हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ऑटो कंपोनेंट, स्पेयर पार्ट्स पर GST कटौती संभव है। EV गाड़ियों के बैटरी पैक पर भी जीएसटी दर कम हो सकती है। ऑटो कंपोनेंट पर GST अभी 18-28 फीसदी के दायरे में है।


इसके अलावा घरेलू रेलवे वैगन कंपनियों को भी राहत देने की तैयारी है। अभी वैगन मैन्युफैक्चरिंग पर 5 फीसदी GST लगता है जिसके चलते देश में इनकी मैनुफैक्चरिंग इम्पोर्टेड वैगन के मुकाबले महंगी पड़ती है।


टेक्सटाइल रॉ मैटेरियल पर ज्यादा GST से बुनकर भी परेशान हैं। अभी फाइबर पर 18 फीसदी और यार्न पर 12 फीसदी GST लगती है। वहीं, फिनिश्ड टेक्सटाइल पर 5 फीसदी जीएसटी लगती है। इकोनॉमी की सुस्ती से निपटने के लिए GST के मौजूदा रेट स्ट्रक्चर को दुरूस्त करने की तैयारी है। वित्त मंत्रालय की फिटमेंट कमिटी की इस बैठक में सैनिटरी नैपकिन और हेल्थ सेक्टर पर भी दरों की समीक्षा की जाएगी। फिटमेंट कमिटी के प्रस्तावों पर GST काउंसिल में फैसला होगा।


 सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।