Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

आईटी कंपनियों पर मार, एच-1बी वीजा लेना हुआ मुश्किल

प्रकाशित Mon, 03, 2018 पर 14:02  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

एच1बी वीज़ा पर अमेरिका के नए नियम आईटी इंडस्ट्री के लिए परेशानी खड़ी कर सकते है। अमेरिका ने  इस साल से एच-1बी वीज़ा की संख्या ना सिर्फ घटाई है साथ ही नियम भी कड़े कर दिए है। जिसके तहत अब अमेरिकी डिग्री वालों को  प्रथामिकता मिलेगी। आईटी कंपनियों के लिए वीजा लेना होगा महंगा। कंपनियों को अब सिर्फ 65000 वीजा मिलेंगे। अभी तक कंपनियों को 85000 एच-1बी वीजा मिलते थे। वीजा लॉटरी के जरिए ही दिया जाएगा। बता दें कि एच-1बी वीजा अस्वीकार करने की दर 65 फीसदी तक बढ़ी है।


इस पर नैस्कॉम का कहना है कि अभी नए वीजा नियमों का अध्य्यन कर रहे हैं। इससे अमेरिकी कंपनियों पर असर पड़ेगा। भारतीय कंपनियां 1.5 लाख लोगों को रोजगार देती है। कंपनियों के अच्छे कर्मचारियों की वीजा मिलना चाहिए।