Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

Hexaware के बोर्ड ने शेयरों के डीलिस्टिंग प्रस्ताव को दी मंजूरी

कंपनी ने जून के शुरुआत में ही इस बात की सूचना दी थी कि उसके प्रमोटर Baring PE Asia की डीलिस्टिंग की योजना है।
अपडेटेड Jun 22, 2020 पर 16:55  |  स्रोत : Moneycontrol.com

मिड टियर आईटी कंपनी हेक्सावेयर टेक्नोलॉजी (Hexaware Technologies) के बोर्ड ने कंपनी के शेयरों को डीलिस्ट करवाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। यह मंजूरी मर्चेंट बैंकर की सिफारिश के आधार पर दी गई है।


कंपनी ने जून के शुरुआत में ही इस बात की सूचना दी थी कि उसके प्रमोटर Baring PE Asia की डीलिस्टिंग की योजना है। कंपनी ने  अपने शेयरों को स्टॉक एक्सचेंजों से डिलिस्ट करवाने के लिए 12 जून को आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज को मर्चंट बैंकर के रूप में नियुक्त किया था। मर्चंट बैंक ने 18 जून को अपनी रिपोर्ट दी जिसके आधार पर ही कंपनी के बोर्ड ने इस डीलिस्टिंग को मंजूरी दे दी है।


20 जून को बीएसई को  दी गई जानकारी के मुताबिक कंपनी ने कहा है कि कंपनी के बोर्ड ने इस डीलिस्टिंग  प्रस्ताव पर डीलिस्टिंग रेग्यूलेशन के Regulation 8(1)(a) के तहत चर्चा करने के बाद मंजूरी दी है।


कंपनी ने अपने बयान में आगे कहा है कि यह प्रस्ताव अभी शेयर धारकों की मंजूरी के अधीन है जिसके लिए पोस्टल बैलेट के जरिए शेयर धारकों की मंजूरी ली जायेगी।


कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि डीलिस्टिंग का यह निर्णय कंपनी पर प्रमोटरों का नियंत्रण बढ़ाने और कंपनी के कारोबार मजबूती देने के उद्देश्य से लिया गया है। इस डीलिस्टिंग से कंपनी को लागत कटौती में भी सहायता मिलेगी और कंपनी के प्रबंधन को कंपनी के कारोबार पर ज्यादा फोकस करने का मौका मिलेगा।


बता दें कि हेक्सावेयर में Baring PE Asia की 62.4 फीसदी हिस्सेदारी है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।