Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

हाई स्पीड डाटा ट्रांसफर करना होगा आसान होगा, RJIO बिछाएगा Sub Sea केबल सिस्टम

भारत में तेजी से बढ़ती हुई डाटा की खपत को देखते हुए रिलायंस जिओ ने दो SubSea केबल सिस्टम बिछाने की शुरुआत की है।
अपडेटेड May 18, 2021 पर 12:36  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

भारत में तेजी से बढ़ती हुई डाटा की खपत को देखते हुए रिलायंस जिओ ने दो SubSea केबल सिस्टम बिछाने की शुरुआत की है। IAX और IEX केबल के जरिए 200 TBPS तक डाटा का ट्रांसफर आसानी से किया जा सकेगा।


16 हजार किलोमीटर लंबी दोनों केबल बिछाने का काम 2024 तक पूरा हो जाएगा। IAX केबल भारत को सिंगापुर से जोड़ेगी जबकि IEX केबल भारत को मिडल ईस्ट और यूरोप से कनेक्ट करेगी।


इस केबल सिस्टम को भारत और पूरे भारतीय क्षेत्र की डेटा जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया जा रहा है। जियो ने इसके लिए विश्व कई प्रमुख वैश्विक साझेदारों और विश्व स्तरीय सबमरीन केबल सप्लायर सबकॉम के साथ हाथ मिलाया है। 


बता दें कि भारत में डिजिटल सेवाओं और डेटा खपत के मामले में रिलायंस जियो नेटवर्क सबसे आगे है। स्ट्रीमिंग वीडियो, रिमोट वर्कफोर्स,  5 जी और आईओटी जैसी मांगों को पूरा करने के लिए इस अपनी तरह के पहले भारत-केंद्रित आईएएक्स और आईईएक्स सिस्टम बनाने का नेतृत्व जियो कर रहा है। 


IAX केबल सिस्टम दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था भारत को एशिया-प्रशांत के बाजारों से जोड़ेगा। इससे मुंबई, चेन्नई, थाईलैंड, मलेशिया और सिंगापुर तक एक्सप्रेस कनेक्टिविटी मिलेगी। 


वहीं IEX केबल भारत को यूरोप में इटली मध्य पूर्व और उत्तरी अफ्रीका तक जोड़ेगी। आईएएक्स और आईईएक्स सिस्टम्स रिलायंस जियो के ग्लोबल फाइबर नेटवर्क से भी जुड़ती हैं, जो अमेरिका के पूर्वी और पश्चिमी तटों को कनेक्ट करती है। आईएएक्स के 2023 के मध्य में सेवा के लिए तैयार होने की उम्मीद है, जबकि आईईएक्स 2024 की शुरुआत में सेवा के लिए तैयार हो जाएगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें