Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

भारतीयों का विदेश में डंका, अमीरों की लिस्ट में हिंदुजा सबसे ऊपर

प्रकाशित Mon, 13, 2019 पर 09:09  |  स्रोत : Moneycontrol.com

सात समंदर पार भारतीयों ने हमेशा डंका बजाया है। हर एक क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बनाई है। अब अगर आप ब्रिटेन के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट देखें तो वहां भी पहले और दूसरे नम्बर पर भारतीय ही मिल जाएंगे।




ब्रिटेन के संडे टाइम्स अखबार के मुताबिक भारतीय मूल के हिंदुजा ग्रुप 22 बिलियन (अरब) पाउंड तकरीबन 2,00,000 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ पहले नम्बर का ताज धारण किया है। दूसरे नम्बर का ताज भी भारतीय मूल की झोली में गया है। रुबेन ब्रदर्स 18..बिलियन (अरब) पाउंड तकरीबन 1,69,500 करोड़ रुपये की संपत्ति के साथ दूसरे नम्बर पर हैं।  




 यूके में हिंदुजा ग्रुप की कंपनियों को ऑपरेट करने वाले श्री चंद और गोपी चंद की संपत्तियों में पिछले साल के मुकाबले 1.35 अरब पाउंड का इजाफा हुआ है। इस तरह हिंदुजा ग्रुप संडे टाइम्स के सबसे अमीर लोगों की लिस्ट में पहले पायदान पर पहुंच गया। इससे पहले हिंदुजा ग्रुप साल 2014 और 2017 में अमीरों की लिस्ट में पहला स्थान हासिल कर चुका था। 




हिंदुजा ग्रुप के को-चेयरमैन जी.पी. हिंदुजा ने संडे टाइम्स से कहा है कि, ब्रिटेन ईयू (यूरोपीय संघ) से बाहर निकले या नहीं गोपीचंद हिंदुजा इस बात से सहमत हैं कि उनके परिवार के होमलैंड (पैतृक) देश के साथ रिश्तों को और बेहतर बना सकते हैं।


 


वहीं भारतीय मूल के ही रूबेन ब्रदर्स की कुल संपत्ति करीब 1866 करोड़ पाउंड है जो तकरीबन 1,69,500 करोड़ रुपये  है। रुबेन इस फेहरिश्त में दूसरे नम्बर पर हैं। मुंबई में जन्मे 80 साल के डेविड रुबेन और 77 साल क साइमन रुबेन पिछले साल इस लिस्ट में चौथे नम्बर पर थे। इस साल इनकी संपत्तियों में 3.56 अरब पाउंड की भारी बढ़ोतरी देखने को मिली है।




साथ ही भारतीय मूल के एक अन्य अरबपति लक्ष्मी निवास मित्तल की संपत्तियों में कमी देखने को मिली है। इस तरह वो पिछले साल के पांचवें स्थान से फिसलकर इस साल 11 वें नम्बर पर पहुंच गए हैं। वहीं पिछले साल पहले नम्बर पर रहने वाले एक रासायनिक कंपनी के फाउंडर सर जिम रैटक्लिप 18.15 अरब पौंड की संपत्ति के साथ तीसरे स्थान पर खिसक गए हैं।




आपको बता दें कि हिंदुजा ग्रुप की स्थापना साल 1914 में मुंबई में हुई थी और अब इसका तेल और गैस, बैंकिंग सेक्टर, आईटी, रियल एस्टेट में दुनिया भर कंपनी का कारोबार है। 83 साल के ब्रिटिश नागरिक श्री और 79 साल के गोपी लंदन में रहते हैं। चार भाइयों में दो लोग बिजनेस को कंट्रोल करते हैं। दोनों भाई एक्सपोर्ट बिजनेस को बढ़ावा देने के लिए लंदन चले गए थे। तीसरे भाई प्रकाश जिनेवा में रहते हैं और अशोक मुंबई में रहते हैं। 50 से अधिक कंपनियों को कंट्रोल करते हैं।