Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

हाइपरटेंशन समस्या कितनी बड़ी, कैसे करें बचाव

प्रकाशित Sat, 18, 2019 पर 15:47  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

17 मई को world hypertension day था। ये दिन एक ऐसी बिमारी को जानने-पहचानने और उससे बचने के उपायों पर अमल करने का दिन है जो धीरे-धीरे लोगों को मारता है। एक आंकड़े के मुताबिक देश में हर साल 16 लाख लोगों की मौत hypertension से होती है। देश में हर दस में 3 वयस्क व्यक्ति हाई बीपी का शिकार है। दिल की बीमारियों से हुई कुल मौतों में करीब 54 फीसदी में हाई बीपी विलेन होता है। स्ट्रोक में ये आंकड़ा 56 फीसदी और किडनी फेल से हुई मौतों में करीब 55 फीसदी है। WHO के मुताबिक दुनियाभर में हर साल 75 लाख लोगों की मौत हाई बीपी के कारण होती है। ये एक स्लो किलर है इसलिए इसे समय पर जानना और इससे बचाव के उपाय करना जरूरी है।


हाइपरटेंशन में धमनियों में खून का दबाव ज्यादा बढ़ जाता है। सामान्य रूप से इसे 120/80 MMHG होना चाहिए। इससे ज्यादा हो तो डॉक्टर की सलाह लेकर दवा करना जरूरी है। सही समय पर इलाज नहीं होने पर ये हार्ट के साथ किडनी, ब्रेन और आंख पर भी असर डालता है।


हाइपरटेंशन से बचाव के लिए सबसे जरूरी है हम अपने जीवनशैली में बड़े बदलाव लाएं। स्वस्थ्य खान-पान। नमक से परहेज, शराब-तंबाखू से दूर रहना, कम कॉफी पीना, अगर वजन है तो कम करना और हां रोजाना कम से कम 30 मिनट कसरत करना। इन उपायों से हाइपरटेंशन से बड़े असर से खुद को दूर रख सकते हैं।