Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कैसे रखें मोबाइल को हैंग-फ्री, जानिये मोबाइल इस्तेमाल की Best Practice!

स्क्रीन का बार-बार फ्रीज होने पर फोन की मेमोरी को साफ करें। RAM भरने से फोन फ्रीज होता है।
अपडेटेड Aug 06, 2019 पर 18:41  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

मोबाइल फोन अब जिंदगी का हिस्सा है। कभी कभी तो ऐसा लगता है कि ये हमारे शरीर का हिस्सा है। कहीं छूट गया तो अपने भीतर कोई कमी सी महसूस होने लगती है। इस्तेमाल की तो बात ही क्या करें, अब इसके बिना ना काम चलेगा और ना मन लगेगा। मोबाइल लेना तो अपना बजट थोड़ा स्ट्रेच करने में कोई बुराई नहीं लगती। मगर आज अपने बजट का एकदम अप टू डेट मेक एंड मॉडल खरीदा और कल पता लगता है कि नया कुछ आ गया या आ रहा है। ये तेज तरक्की है या मेरा भुलावा है।


आज के विशेष शो में अपने एक्सपर्ट्स से सब जानकारी लेंगे। मगर बात बस इतनी सी नहीं है। इस्तेमाल करने के दौरान भी टंटा है - कभी हैंग होने लगेगा, कभी गरम होने लगेगा, कभी बैटरी दम तोड़ेगी, कभी ऐप नहीं चलेंगे। ऐसा क्यों? ये भी एक्सपर्ट्स से पूछेंगे। और आखिरी बात फोन की दिक्कत किसी को बताओ तो एक दो सुझाव देने के बाद कहता है कि छोड़ो यार, नया ले लो। आखिर फोन की उम्र क्या है।


फोन का स्लो होना


फोन के SLOW हो जाने के कई कारण होते हैं परंतु मुख्य रूप से Cache के भर जाने से दिक्कत बढ़ती है। इसलिए Cache को खाली करें।


फोन जल्दी गरम होना


फोन जल्दी गरम होना भी एक समस्या है इसका उपाय यह है कि इस्तेमाल नहीं होने वाले App बंद रखना चाहिए क्योंकि ज्यादा App खुले रहने से फोन गरम होता है। इसके अलावा फोन को गरम होने से बचाने के लिए फोन के हिसाब से ज्यादा बड़े App ना रखें। कोई तकनीकी दिक्कत हो तो रिपेयर कराएं।


बैटरी लाइफ कम होना


बैटरी की लाइफ बचाने के लिए ज्यादा एनर्जी खाने वाले App से बचें। फोन को Standby मोड पर रखें। कई App बंद रहकर भी बैटरी खाते हैं। बैटरी खाने वाले App को डिलीट करें।


स्क्रीन बार-बार फ्रीज, हैंग होना


स्क्रीन का बार-बार फ्रीज होने पर फोन की मेमोरी को साफ करें। RAM भरने से फोन फ्रीज होता है। फोन का बार-बार हैंग होना भी आम समस्या होती जा रही है। रीस्ट्रार्ट करने से यह दिक्कत कम होगी। ऑपरेटिंग सॉफ्टवेयर का अपडेटेड वर्जन रखें। तकनीकी दिक्कत हो तो सर्विस सेंटर में दिखाएं।