Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

कैसे बचाएं टैक्स और कमाएं डबल इनकम

प्रकाशित Thu, 16, 2019 पर 09:25  |  स्रोत : Moneycontrol.com

बात जब इनकम की आती है तो सभी अपनी इनकम बढ़ाना चाहते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि जितना इनकम बढ़ेगी उतना ही टैक्स भी देना होगा। ऐसे में आखिर क्या करें कि इनकम भी अच्छी खासी रहे और टैक्स भी बचता रहे। लिहाजा इनकम टैक्स एक्ट में कई नियमों का प्रावधान है और कई योजनाएं हैं जहां आप बेहतर तरीके से इनकम में छूट साथ ही टैक्स बचा सकते हैं। वैसे तो इनकम टैक्स कानून 1961 के तहत अगर किसी व्यक्ति की सालाना कमाई 2.5 लाख रुपये से अधिक है तो उसे इस अतिरिक्त आय पर टैक्स चुकाना पड़ेगा। लेकिन अगर आप इनकम टैक्स कानून के तहत तय माध्यमों या योजनाओं में इनवेस्टमेंट करते हैं तो आपको  काफी सहूलियत मिलेगी। इनकम टैक्स एक्ट में कई ऐसे सेक्शन हैं जिसके तहत इनवेस्टमेंट में कटौती के साथ-साथ कर मुक्त इनकम तक का प्रावधान है। इनकम टैक्स के सेक्शन 80C, सेक्शन 80E, सेक्शन 80D, , सेक्शन 80DD, सेक्शन 80B जैसे कई सेक्शन है जिसकी मदद से टैक्स बचा सकते हैं।
 
5 टैक्स सेविंग इनवेस्टमेंट जहां टैक्स फ्री रिटर्न मिलेगा  



भारत सरकार की तरफ से टैक्स फ्री रिटर्न पाने के लिए कई तरह की योजनाएं चल रही हैं। लेकिन 5 उन खास योजनाओं के बारे में बताएंगे जहां पर इनवेस्टमेंट करके अपनी आय पर कटौती और इनवेस्टमेंट पर टैक्स फ्री पा सकते हैं। 
 
 
  
Public Provident Fund यानी   PPF
Employees Provident Fund   यानी EPF
Voluntary Provident Fund   यानी VPF
Unit Insurance Plans यानी Ulips
Sukanya Samriddhi Account  सुकन्या समृद्धि योजना



ये सभी ऐसी योजनाएं हैं जिनसे आप डबल इनकम का फायदा उठा सकते हैं। इन योजनाओं में इनवेस्टमेंट करने पर आपको टैक्स में छूट मिलती है। साथ ही इन योजनाओं पर इनवेस्टमेंट करने से जो इनकम होती है वो टैक्स फ्री होती है।


PPF, EPF, VPF और सुकन्या समृद्धि योजना एकाउंट में इनवेस्टमेंट करने के लिए कई लोग पसंद करते हैं। इसमें उच्च वेतनमान वाले लोग और मिडल क्लास के लोग शामिल रहते हैं। बैंक की स्कीम, पोस्ट ऑफिस की स्कीम और इंश्योरेंस स्कीम के मुकाबले  PPF, EPF, VPF और सुकन्या समृद्धि योजना एकाउंट में बेहत रिटर्न मिलता है।


दूसरी ओर यूलिप एक ऐसा प्लान है जहां इंश्योरेंस और इनवेस्टमेंट का लाभ एक में ही शामिल होता है। अगर आप लॉन्ग टर्म के लिए इनवेस्टमेंट करना चाहते हैं तो यूलिप सबसे अच्छा है। यूलिप फंड पांच साल के बाद ही मेच्योर होता है। मेच्योर होने के बाद जो भी रकम आती है वो टैक्स-फ्री होती है।


 आपको बता दें कि, यूनिट लिंक्ड इंश्योरेंस प्लान, एक ऐसा प्रोडक्ट है जहां इंश्योरेंस और इनवेस्टमेंट लाभ, एक में ही होते हैं। इन्हें बीमा कंपनियों पेश करती हैं। इसे पहली बार यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया (यूटीआई) ने लॉन्च किया था। ये मुख्य रूप से भारत में उपलब्ध है।


 
EPF और VPF दोनों को लिए सरकार ने 8.65 फीसदी की दर इंट्रेस्ट निर्धारित है, जबकि PPF के लिए 8 फीसदी की दर से इंट्रेस्ट मिलता है। इनकम बचाने के लिए इन तीनों में इनवेस्ट करना बेहतर होता है। इनके रिटर्न टैक्स फ्री होते हैं। इनसे कई फायदे हैं। इसके डिपोजिट पर आप लोन ले सकते हैं और प्री मेच्योर के पहले निकाल भी सकते हैं। ये सैलरी वाले लोगों के लिए उपयुक्त है। इसमें बाजार का कोई जोखिम नहीं है। लॉन्ग टर्म में इनमें अच्छी रकम मिलती है।
 
सुकन्या समृद्धि योजना बेटियों के लिए केंद्र सरकार की एक छोटी बचत योजना है। जिसे बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ स्कीम के तहत लॉन्च किया गया है। इसमें 8.5 फीसदी की ब्याज मिलती है। इसमें टैक्स छूट के साथ-साथ मेच्योरिटी पूरी होने के बाद इसकी इनकम टैक्स फ्री होती है।