Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

हवा से भी फैलता है कोरोना, सैकड़ों वैज्ञानिकों ने मानी यह बात

कई वैज्ञानिकों का कहना है कि हवा के साथ छोटे कणों में चिपककर coronavirus लोगों को संक्रमित कर सकता है।
अपडेटेड Jul 07, 2020 पर 09:07  |  स्रोत : Moneycontrol.com

32 देशों के  239 वैज्ञानिकों का कहना है कि इस तरह के साक्ष्य हैं कि हवा के साथ छोटे कणों में चिपककर coronavirus लोगों को संक्रमित कर सकता है। ये वैज्ञानिक इस मुददे पर WHO से अपनी सिफारिशों में बदलाव करने की भी मांग कर रहे हैं। New York Times में शनिवार को प्राकाशित रिपोर्ट के मुताबिक सैकड़ों वैज्ञानिकों का कहना है कि इस तरह के साक्ष्य हैं कि हवा के साथ छोटे कणों में चिपककर coronavirus लोगों को संक्रमित कर सकता है। ये वैज्ञानिक इस मुददे पर WHO से अपनी सिफारिशों में बदलाव करने की भी मांग कर रहे हैं।


गौरतलब है कि WHO का कहना कि इस वायरस का संक्रमण हवा से नहीं फैलता है। WHO ने कई बार कहा कि यह  वायरस सिर्फ थूक के कणों से ही फैलता है। ये कण कफ, छींक और बोलने से शरीर से बाहर निकलते हैं। थूक के कण इतने हल्के नहीं होते जो हवा के साथ यहां से वहां उड़ जाएं। वे बहुत जल्द ही जमीन पर गिर जाते हैं।


इन वैज्ञानिकों ने WHO को एक ओपन लेटर भेजा है। इन सभी वैज्ञानिकों ने दावा किया कि इस बात के पर्याप्त सबूत हैं, जिससे यह माना जाए कि इस वायरस के छोटे-छोटे कण हवा में तैरते रहते हैं, जो लोगों को संक्रमित कर सकते हैं। यह लेटर साइन्टिफिक जर्नल में अगले सप्ताह प्रकाशित होगा।


रॉयटर ने WHO से इस नए दावे पर प्रतिक्रिया मांगी थी। लेकिन अभी उसने इस पर कुछ नहीं कहा है। न्यूयॉर्क टाइम्स की इस रिपोर्ट के मुताबिक, चाहे छींकने के बाद मुंह से निकले थूक के बड़े कण हों या फिर बहुते छोटे कण हों, जो पूरे कमरे में फैल सकते हैं। जब दूसरे लोग सांस खींचते हैं तो हवा में मौजूद यह वायरस शरीर में प्रवेश कर उसे संक्रमित कर देता है।


NYT की इस खबर के मुताबिक  इस पर WHO ने कहा कि इस वायरस के हवा में मौजूद रहने के जो सबूत दिए गए हैं,उनसे ऐसे किसी नतीजे में फिलहाल नहीं पहुंचा जा सकता कि यह एयरबोर्न वायरस है। हालांकि अखबार में छपी इस रिपोर्ट के मुताबिक हेल्थ एजेंसी ने कहा कि इस वायरस के हवा में मौजूद रहने के जो सबूत दिए गए हैं उनसे फिलहाल हम ऐसे किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकते कि कोरोना सीधे हवा से भी फैल सकता है।


इस बीच देश में कोरोनावायरस (Covid-19) संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। पिछले 24 घंटों में 17,000 केस रिपोर्ट हुए हैं। इसी के साथ कोरोनावायरस संक्रमण के मामले में भारत अब रूस को पीछे छोड़कर तीसरे नंबर पर आ गया है।  वैश्विक स्तर पर 1 करोड़ 15 लाख 44 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस की चपेट में आ चुके हैं और 5 लाख 36 हजार से ज्यादा लोगों की इसके चलते मौत हो चुकी है। दुनिया में इस संक्रमण का सबसे बुरा असर अमेरिका पर हुआ है। वहां इस महामारी से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 28,52,807 पहुंच गई है। वहीं Covid-19 से मरने वाले लोगों की संख्या वहां 1,29,718 हो गई है। दूसरे नंबर पर 15,77,004 केस के साथ ब्राजील है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।