Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

ऑटो सेक्टर पर मंदी का असर, नौकरियों पर पड़ी मार

लगभग सभी जॉब कंसलटेंसी फर्म्स का मानना है कि ऑटो कंपनियों ने नई नौकरियों पर फ्रीज लगा दिया है।
अपडेटेड Jul 19, 2019 पर 18:45  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

ऑटो सेक्टर की मंदी का असर नौकरियों पर दिख रहा है। लगभग सभी जॉब कंसलटेंसी फर्म्स का मानना है कि ऑटो कंपनियों ने नई नौकरियों पर फ्रीज लगा दिया है। महीने दर महीने बिक्री में कमी, मांग का ना होना, फैक्ट्रियों में  नो प्रोडक्शन डे का बढ़ना- ऑटो कंपनियों को अब लोग नहीं चाहिए।  टाइम्सजॉब.कॉम के मुताबिक जहां इस साल जनवरी में ऑटो और एंसिलरी सेक्टर में हाइरिंग की ग्रोथ 17 फीसदी की थी वहीं जून में यह घट कर माइनस 18 फीसदी रह गई। टाइम्सजॉब.कॉम के मुताबिक जून में ऑटो सेक्टर में 9 फीसदी की गिरावट रही। हालांकि Engineers की मांग अब भी बनी हुई है लेकिन सप्लाइ चेन और लॉजस्टिक्स में नौकरियां नहीं है।


एक्सपर्ट्स की माने तो अब सेक्टर में नौकरियों को पाने के लिए लोगों को नई तकनीक में दक्ष होना पड़ेगा। अकेले ऑटो सेक्टर करीब 4 करोड़ लोगों को रोजगार देता है। लेकिन पिछले साल सितंबर के बाद से लगातार बिक्री गिर रही है। जून में तो 25 फीसदी कारें कम बिकी। सरकार की नीतियां अस्पष्ट हैं और इसलिए ऑटो कंपनियों ने भी अपनी विस्तार योजनाओं पर ब्रेक लगा दिया है। लेकिन सबसे बुरी हालत डीलर्स की है। अनुमान के मुताबिक लगभग हर हफ्ते एक डीलरशिप बंद हो रही है। एक साल में लगभग 300 डीलरशिप स्टोर बंद हुए हैं। इसकी वजह से करीब 3000 लोगों की नौकरी छिन चुकी  है।