Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

GST पर आया अहम फैसला, फिर से अंतरराष्ट्रीय कीमतों से तय होंगी पेट्रोल-डीजल की कीमतें

कोई धार्मिक संस्था अपने परिसर को ठहरने या शादी विवाह के लिए किराए पर देती है तो उसे GST देना होगा।
अपडेटेड May 21, 2020 पर 10:37  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

कोई धार्मिक संस्था अपने परिसर को ठहरने या शादी विवाह के लिए किराए पर देती है तो उसे GST देना होगा। ये फैसला सुनाया है कर्नाटक की GST अपीलेट अथॉरिटी ने। अब धार्मिक संस्था को सीमा से ज्यादा GST छूट नहीं मिलेगी। धार्मिक संस्था को कमरों, हॉल के किराए पर GST से छूट नहीं मिलेगी। कमरे का किराया 1000 रुपये से ज्यादा तो GST लगेगा। इसी तरह हॉल का किराया 10,000 से ज्यादा हो तो भी GST लगेगा। एक धार्मिक संस्था की अपील पर कर्नाटक की AAAR का ये फैसला आया है। 7500 रुपये तक किराए पर 12 फीसदी और इससे ज्यादा पर 18 फीसदी जीएसटी चुकाना होगा।


 
पेट्रोल-डीजल में लगेगी आग, फिर से अंतरराष्ट्रीय कीमतों से तय होंगी कीमतें
 


अगले महीने से पेट्रोल डीजल की कीमतें फिर से अन्तराष्ट्रीय बाजारों के आधार पर तय होंगी। सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के मुताबिक घरेलू डिमांड में आई तेजी के बाद ऑयल मार्केटिंग कंपनियां डायनामिक प्राइसिंग फिर से शुरू करने की तैयारी कर रही हैं। जाहिर है क्रूड में नरमी का फायदा तो कंज्यूमर को नहीं मिला पर अब तेजी का भार उठाना पड़ सकता है। बता दें कि डायनामिक प्राइसिंग फार्मूला 16 मार्च से बंद है। मई के पहले पखवाड़े में डिमांड 60 फीसदी के पार चली गई है। लॉकडाउन-4 में छूट से डिमांड बढ़ना तय है जिसको ध्यान में रखकर जून से डायनामिक प्राइसिंग शुरू हो सकती है।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें।