Moneycontrol » समाचार » बाज़ार खबरें

अहम खबरें: आयकर विभाग ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज से लेनदेन करने वालों का ब्यौरा मांगा

सूत्रों के मुताबिक क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग से मोटा मुनाफा कमाने वाले लोगों पर विभाग की नजर है
अपडेटेड Jul 23, 2021 पर 09:01  |  स्रोत : CNBC-Awaaz

आयकर विभाग ने क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजेज से लेनदेन करने वालों का ब्यौरा मांगा है। सूत्रों के मुताबिक क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग से मोटा मुनाफा कमाने वाले लोगों पर विभाग की नजर है। विभाग को आशंका है कि ट्रेडिंग करने वाले लोग अपनी वास्तविक आय छुपा रहे हैं। क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज को इनकम टैक्स की नोटिस में ट्रेडिंग करने वालों की सारी डिटेल्स मांगी गई हैं।


IT विभाग ने Coins की लेनदेन का पूरा रिकार्ड मांगा हैं। आईटी विभाग की क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग में मुनाफा कमाने वालों पर नजर है। विभाग को कमाई करके टैक्स चुराने की आशंका है। एक साल से बिटकॉइन समेत कई क्रिप्टो में तेजी आई है। WazirX, CoinDCX, Zebpay, UnoCoin क्रिप्टोकरेंसी के टॉप एक्सचेंज हैं। आईटी विभाग ने इनको नोटिस भेजी है।


बिजली वितरण में फ्रेंचाइजी मॉडल!


आने वाले दिनों में छोटी बड़ी कंपनियां आपके घर बिजली पहुंचाने वाली कंपनियों की फ्रेंचाइजी ले सकती हैं। सरकार इसके जरिए बिजली वितरण में उपभोक्ता को बेहतर विकल्प देने की तैयारी कर रही हैं। मेगा डिस्कॉम रिफॉर्म में निजीकरण जरूरी नहीं होगा। राज्यों को निजीकरण की जगह दूसरे विकल्प भी मिलेंगे। रिफॉर्म के मानक में निजीकरण वैकल्पिक होगा।


निजीकरण के बजाए फ्रेचाइजी मॉडल का विकल्प दिया जाएगा। डिस्कॉम रिफॉर्म पर ऊर्जा मंत्रालय की सफाई में कहा गया है कि ओडिशा ने फ्रेंचाइज मॉडल पर काम शुरू किया गया है। इस रिफॉर्म का लक्ष्य वितरण घाटा 15% से कम करना है। केंद्र से आर्थिक मदद के लिए रिफॉर्म जरूरी है। डिस्कॉम रिफॉर्म के लिए 3 लाख करोड़ की स्कीम प्रस्तावित है। बिना रिफॉर्म REC-PFC लोन मिलना भी मुश्किल होगा।


सोशल मीडिया अपडेट्स के लिए हमें Facebook (https://www.facebook.com/moneycontrolhindi/) और Twitter (https://twitter.com/MoneycontrolH) पर फॉलो करें.